Ranjana sharma

Ranjana sharma

Bhubaneswar near-damna high school

View Certificate Send Message
  • Followers:
    2
  • Following:
    2
  • Total Articles:
    72

Recent Articles


मदद
मदद

मालिक-मालिक

आगे बढ़ना ही जिन्दगी है भाग -२
आगे बढ़ना ही जिन्दगी है भाग -२

बहुत समय बीत जाती ,द

Kahin Kisi roj
Kahin Kisi roj

Har saam Teri intzaar mai Chokhat pe baith Teri

रिश्ते
रिश्ते

रिश्तों के धागे मे

तकलीफ
तकलीफ

दिल की बात दिल में र

फटी चप्पल
फटी चप्पल

अपराजिता घड़ी की अ

नादान था ऎ दिल
नादान था ऎ दिल

नादान था ऎ दिल कुछ

मां की ममता
मां की ममता

एक अमीर घर की लड़की

वाह रे दुनियां
वाह रे दुनियां

दूसरों के मरने पर

तुम मेरी प्रेरणा हो
तुम मेरी प्रेरणा हो

तुम मेरी प्रेरणा ह

अनचाहा लगाव
अनचाहा लगाव

छोटे से एक मकान में

कशिश
कशिश

अजीब - सी कशिश है,तु

जाना
जाना

आज तुमने जो हमसे कह

दिल की सुनो
दिल की सुनो

लोगों की तुम सुनोग

इल्तिज़ा
इल्तिज़ा

नजर न लगे तुझे किसी

नसीब
नसीब

नसीब का लेखा कोई भी

कहानी कुछ कहती है
कहानी कुछ कहती है

ज्योति और राजेश की

वो दिन गए
वो दिन गए

जाने कहां वो दिन गए

कामयाबी
कामयाबी

रेशमा के ऑफिस में उ

कुछ बात दिल को छू जाती
कुछ बात दिल को छू जाती

एक गांव में छोटे से

किस्मत
किस्मत

किस्मत भी कभी - कभी

सच्ची लेखिका
सच्ची लेखिका

एकबार एक लेखिका एक

क्या पैसा ही सबकुछ है
क्या पैसा ही सबकुछ है

मैनावती एक हाउसवाइ

रक्षाबंधन
रक्षाबंधन

रक्षाबंधन एक ऐसा त

यादें
यादें

' ओ मम्मी ' की जोर से

इंसानियत
इंसानियत

काले बादल आसमान मे

पंछी
पंछी

आ पंछी तुझे उड़ना स

स्ट्रीट लाइट
स्ट्रीट लाइट

एक ड्राइवर प्रतिदि

मेरी खामोशी
मेरी खामोशी

मेरी खामोशी तुमसे

माटी का शरीर
माटी का शरीर

क्यों घमंड है तुझे

ना करो तुम
ना करो तुम

विश्वास न करो तुम

इश्क
इश्क

ऐ कोन - सा डगर है जिस

घमंड
घमंड

रोहणी और अलका दो बह

घमंड
घमंड

रोहणी और अलका दो बह

तारीफ
तारीफ

कितनी चंचल हो तुम अ

तुझसे
तुझसे

दिल बार - बार तुझसे

आवाज उठाओ
आवाज उठाओ

दीपा और शिखा दो सहे

तालीम
तालीम

तालीम तो सीख ली हमन

आगे बढ़ना ही जिन्दगी है भाग -१
आगे बढ़ना ही जिन्दगी है भाग -१

दीपा की मां दीपा से

चुप
चुप

आसूं हमें पीना है

तकदीर का खेल
तकदीर का खेल

तकदीर ने मेरा रिश्

जिंदगी से
जिंदगी से

हम जिंदगी से चाहते

धूप - छांव
धूप - छांव

तुम धूप - छांव बनके

मदद
मदद

मालिक-मालिक मेरी म

जिंदगी से समझौता
जिंदगी से समझौता

वैशाली एक समझदार औ

काश मेरा दिल
काश मेरा दिल

काश मेरा दिल भी एक

आसूं की कदर
आसूं की कदर

आसूं की कदर ना तुझे

कहीं किसी रोज
कहीं किसी रोज

हर शाम तेरे इंतजार

मैं क्या गई
मैं क्या गई

मैं क्या गई आपको छो

मंजिल
मंजिल

थक ना ओ राही अभी बह

छोटी बात
छोटी बात

जरा - जरा सी बात पे ह

बार - बार
बार - बार

ओ बीते दिनों की बात

कर्जदार
कर्जदार

एक रहम दिल इंसान ने

तुलना नहीं
तुलना नहीं

पापा घर की इमारत है,

क्या पैसा ही सबकुछ है
क्या पैसा ही सबकुछ है

मीनावती जो एक हाउस

सब्जीवाली
सब्जीवाली

गर्मी के मौसम की चि

आदत
आदत

राहुल रोज बेड टी पी

सपना
सपना

सपनों में खोई सपना

न सोचना
न सोचना

तुम्हें छोड़ के हम

प्रेम के कुछ पल
प्रेम के कुछ पल

हंस और हंसिनी दोनो

बारिश
बारिश

बारिश के बाद मिट्ट

तर्जुबा
तर्जुबा

तर्जुबा इतनी नहीं

साथ
साथ

तुम साथ हो तो कुछ भी

माता पूजा
माता पूजा

खड़गपुर का प्रसिद्

याद
याद

यादों के पन्नों को

तुलसी
तुलसी

हर घर की शोभा है तुल

दिल
दिल

दिल रो रहा है पर पता

क्या खुशी है
क्या खुशी है

गुमसुम - सी है मेरी

जिंदगी
जिंदगी

जिंदगी में हम जो चा

मां
मां

मां अपने आंचल में स

आगे बढ़ना ही जिन्दगी है भाग -२
आगे बढ़ना ही जिन्दगी है भाग -२

बहुत समय बीत जाती, द

आप
आप

ख्यालों में आप सपन

खामोशी
खामोशी

गर्मी की छुट्टी खत

' बच्चे ' मासूम होते हैं
' बच्चे ' मासूम होते हैं

' अब छोड़ो भी यार ' ऐस

हम
हम

जिंदगी जीते -जीते आ

आपके
आपके

आपके नजर में मेरी उ

पछतावा
पछतावा

रिया और अजीत की हाल