आज के समय में शिक्षित बेरोजगारी-दीशा शाह

आज के समय में शिक्षित बेरोजगारी-दीशा शाह

आज के समय में युवाओ को शिक्षित  होने के बावजूद भी  कोई नौकरी नहीं मिलती है . हमारे भारत में  में करोडो से भी ज्यादा बेरोजगार युवा  है . पढ़े लिखे होने के कारन भी अच्छी नौकरी नहीं मिलती है , ज़िन्दगी में आगे नहि बढ़ पाते है . क्यों की ज़िन्दगी में आगे बढ़ने की चाह ही नहीं होती है. की कुछ करे कुछ बने , अपने पैरो में खड़े हो सके अपने दम से . युवाओ आज के समय में बेरोजगार क्यू होते है , क्यों की ज़िन्दगी में कुछ करने का जज्बा ही नहीं होता है  ,उसके अंदर . पहली बात , क्या करना है क्या नहीं करना है इसका कुछ पता ही नहीं होता है युवाओ को , और करते है तोह दुनिआ जिस रास्ते पर चलती है उसी में ही चलते है , कुछ अलग करने की चाह पनपती ही नहीं है  उसके अंदर , बस दोस्त जो करे वो ही करते है , दोस्त जहा जाएंगे ,वहां ही जाएंगे ,  मेरा दोस्त ca,  कर रहा में भी वही करूँगा .खुद का क्या टैलेंट है , किस में है उसका पता ही नहीं होता है अधिकत्तर युवाओ में . आत्मविश्वास की मात्रा भी बोहोत कम होती  है , क्यों की खुद के नजरो में  ही नहीं उठे है , एकाग्रहता ही नहीं कोई भी क्षेत्र में आगे बढ़ने का . वहां  ढढता , धीरज कैसे हो सकता है . असफलता को स्वीकार करने का साहस नहीं होता है मन में ही हार जाते है . रुक जाते है . इसी कारन से युवा बेरोजगार साबित होते है . युवाओ को ज़िन्दगी में कभी भी असफलता से नहीं घभराना चाहिए , असफलता ही वो सीरी होती है उसे चढ़ कर ही सफलता का आनंद उठा सकते है .

 

Disha Shah

           दीशा शाह
  पश्चिम बंगाल ,कोलकाता

3+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account