Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

भारत सर्वाधिक प्रदूषित देश-वीरेंदर देवांगना

भारत सर्वाधिक प्रदूषित देश::
स्वीटजरलैंड के दावोस में आयोजित विश्व आर्थिक मंच के शिखर बैठक में ग्लोबल एन्वायर्नमेंट इंडेक्स के रिपोर्ट से साझा किया गया है कि पर्यावरण के क्षेत्र में 180 देशों में भारत का स्थान 177वां है, जो बद से बदतर हालात को बयां करता है।
भारत की आबोहवा इतनी बदतर है कि इसे दुनिया के सबसे खराब आबोहवा वाले पांच देशों में शुमार किया गया है। ये हैं-बांग्लादेश, नेपाल, बुरुंडी और कांगो। बिगडै़ल पड़ोसी पाकिस्तान की हालात हमसे अच्छी है। वह इस सूची में 169वें पायदान पर है। इस लिहाज से समूचे भारतीय उपमहाद्वीप में पर्यावरण संकट गंभीरतम रूप में है। लिहाजा, पर्यावरण सुधार के लिए कड़े कदम उठाए जाने की जरूरत है।
इसकी गंभीरता इसी बात से सिद्ध होती है कि दुनिया के 20 सबसे प्रदूषित महानगरों में भारत के 13 महानगर सर्वाघिक प्रदूषित हैं, जिसमें देश की राजधानी दिल्ली सबसे ऊंचे पायदान पर है। दिल्ली की आबोहवा में जहर इतना धुलमिल गया है कि दिल्लीवासियों का जीना दूभर हो गया है।
वहीं उभरती अर्थव्यवस्था में शुमार चीन का स्थान 120वां है। वैश्विक पर्यावरण इंडेक्स के रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि चूंकि भारत व चीन बढ़ती जनसंख्या और विकास के भारी दबाव से जूझ रहे हैं, इसलिए विकासशीलता का सीधा असर पर्यावरण पर पड़ा है तथा आबोहवा की गुणवत्ता में निरंतर गिरावट आया है।
शिखर बैठक में सार्वजनिक किया गया है कि इस सूची में स्वीटजरलैंड सिरमौर है। फ्रांस-दूसरे, डेनमार्क-तीसरे, माल्टा-चैथे और स्वीडन-पांचवें स्थान पर हैं।
स्वच्छता के लिहाज से जारी की गई इस सूची में आगे कहा गया है कि पर्यावरण की समस्या, प्राणियों के स्वास्थ्य पर सीधा असर डाल रही है। इससे हवा के साथ-साथ पानी व मिट्टी भी दूषित हो रही है। इसका प्रभाव जलीय जीवों, पशु-पक्षियों और खाद्यान्न की गुणवत्ता पर हो रहा है।
–00–

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp