Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

खतरनाक देश-पाकिस्तान::वीरेंदर देवांगना

खतरनाक देश-पाकिस्तान::
पाकिस्तान में मानवाधिकार हनन और अल्पसंख्यकों के साथ होनेवाली घटनाओं पर ब्रिटिश संसद में गूंज सुनाई दी। ब्रिटिश सांसदों के चिंता जताने के बाद मामले पर हस्तक्षेप करते हुए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने सख्त एतराज दर्ज कराते हुए कहा कि पाकिस्तान को वहां रहनेवाले हर नागरिक के अधिकारों की गारंटी देनी होगी।
इसके लिए ब्रिटेन के दक्षिण एशिया के मामले देखनेवाले मंत्री पाकिस्तान के मानवाधिकार मंत्री को अपनी आपत्ति जताएंगे और उत्पीड़न की घटनाओं को रोकने की मांग करेंगे।
पाकिस्तान के नागरिकों पर होनेवाले अत्याचार और उत्पीड़न की विस्तार से जानकारी देते हुए ब्रिटिश संसद सदस्य इमरान अहमद खान ने मांग की है कि अब पाकिस्तान से साफ-साफ बात होनी चाहिए।
सांसद अहमद का कहना है कि जब पूरा विश्व कोरोना महामारी से लड़ रहा है, तब यह ध्यान रखना होगा कि पाकिस्तानी नागरिकों को मानवीय अन्याय और यातना के दौर से न गुजरना पड़े।
उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के पेशावर में सरकार के इशारे पर एक अल्पसंख्यक बुजुर्ग की इसलिए हत्या कर दिया गया, क्योंकि वह अहमदिया संप्रदाय से था। विदित हो कि पाकिस्तान में अहमदिया संप्रदाय अल्पसंख्यक घोषित है।
गौरतलब है कि हाल में संयुक्त राष्ट्र संघ से मान्यताप्राप्त एक वाचडाग संस्था ने भी पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर बढ़ रहे अत्याचार और मानवाधिकार हनन के मामलों पर उसे संयुक्त राष्ट्र की मानवाधिकार परिषद की सदस्यता से बाहर करने की मांग की थी।
अब ब्रिटेन को चाहिए कि यही वह मौका है, जब वह पाकिस्तान को अलग-थलग करने में कोई कोर-कसर उठा न रखे।
–00–

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp