Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

पाकिस्तान का रक्तचरित्रःवीरेंदर देवांगना

पाकिस्तान का रक्तचरित्रः
फ्रीडम नेटवर्क की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान मानवाधिकार हनन, अल्पसंख्यकों पर अत्याचार ही नहीं, श्रमजीवी पत्रकारों की हत्या के मामले में भी सबसे खतरनाक देश है। पाक में 20 वर्षों में 140 पत्रकारों की हत्या कर दी गई है।
पूरे पाक में एक-तिहाई से ज्यादा पत्रकार फर्जी या भयजनक मुकदमों का सामना कर रहे हैं। गत वर्ष ही 33 पत्रकारों की हत्या के मामलों में सौ प्रतिशत आरोपी दोषमुक्त हो गए हैं।
सैन्य काकस का दबदबा
लंदन के लेखक इलियट विल्सन ने ‘द स्पेक्टेटर’ पत्रिका में एक लेख में पाकिस्तान की आर्थिक हालत और सैन्य दखल पर लिखा है कि पाकिस्तान में सेना के 62 लाख जवान हैं। यह दुनिया की सातवीं बड़ी सेना है। इस विशाल सेना को चलाने के लिए 1947 के बाद से ही वहां के बड़े सैन्य अधिकारी वाणिज्यिक और औद्योगिक संस्थानों में दखलंदाजी कर रहे हैं।
लेखक विल्सन ने पाक की डा. आयशा सिद्दीकी की 2007 में प्रकाशित किताब ‘मिलिट्री इंकः इनसाइड पाकिस्तान मिलिट्री इकोनामी’ का भी उल्लेख किया है।
विल्सन के अनुसार, पाक की तीनों सेनाएं सौ से भी ज्यादा औद्योगिक व वाणिज्यिक संस्थानों पर नियंत्रण रखती है। सैन्य अफसरों ने वहां ऐसा बिजनेस काकस बना रखा है, जो फैक्टरियों से लेकर व्यापार, खेत से लेकर खलिहान, सीमेंट से लेकर अनाज पैदावारी पर काबू रखती है।
परिणामतः, सेना का व्यवहार वहां जनता के लिए संरक्षक का नहीं, अपितु ऐसे क्रूर आक्रांता सरीखा है, गोया किसी परदेश से आए हों।
–00–

171 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Virender Dewangana

Virender Dewangana

मैं शासकीय सेवा से सेवानिवृत्त हूँ। लेखन में रुचि के कारण मै सेवानिवृत्ति के उपरांत लेखकीय-कर्म में संलग्न हूँ। मेरी दर्जन भर से अधिक किताबें अमेजन किंडल मेंं प्रकाशित हो चुकी है। इसके अलावा समाचार पत्र-पत्रिकाओं में मेरी रचनाएं निरंतर प्रकाशित होती रहती है। मेरी अनेक किताबें अन्य प्रकाशन संस्थाओं में प्रकाशनार्थ विचाराधीन है। इनके अतिरिक्त मैं प्रतियोगिता परीक्षा-संबंधी लेखन भी करता हूँ।

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp