शिक्षक का सम्मान बदलते परिवेश में-दिशा शाह

शिक्षक का सम्मान बदलते परिवेश में-दिशा शाह

आज के समय में कुछ कुछ शिक्षक , शिक्षा का व्यवसाई बना दिये है . कुछ कुछ शिक्षक अपना कर्त्तव्य भूल गये है. शिक्षा के क्षेत्र में डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने देश का गर्व से उचा कर दिया था . डॉ राधा कृष्णन का कहेना था की सही शिक्षा दी जाये तोह समाज में बुराई का विनाश होगा . उनका केहना था की शिक्षकों का दिमाग सबसे अच्छा और पवित्र होना चाहिए .क्यों की देश को आगे लाने के लिए शिक्षक का ही सबसे बड़ा योगदान होता है . कुछ कुछ अच्छे शिक्षक भी होते है ,जो अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोरते है .आपने तरफ से १००% देते है . सुबह से लेकर रात तक पढ़ाते है ,और ईमानदार होते है वो बोहोत अच्छा पढ़ाते है. और विद्याथी को प्रेरित करते है की भविस्य में कुछ बने , अपना सपना साहकार करे . और विद्याथी कभी पढ़ने में नादानी करते है , समजाते है ,सही सलाह देते है विद्याथी को ज़िन्दगी में आगे बढ़ने के लिए . जो समज जाते है वो ज़िन्दगी में आगे बढ़ जाते है आज नहीं तोह कल .ऐसे शिक्षक पुरे भारत में हो तोह , शिक्षा का तोह विकास होगा साथ में सच्चें शिक्षक का भी विकास होगा . देश का विकास होगा शिक्षा के क्षेत्र में.

 

   Disha Shah  

           दिशा शाह

कोलकाता, पश्चिम बंगाल

1+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account