Notification

ग़जलें

इश्क का असर

तेरी आगोश से जो लिपटा हुआ मेरा सर है कट भी जाएगा अगर तो फिर क्या डर है जिस तरफ देखो खुशियाँ दौडी आ रहीं हैं मेरी तरफ कितना दिलनशींं ये तेरे मेरे इश्क का असर है अब तो ये कडी धूप भी बनके बारिश मुझपे बरस रही है तेरी लहकती नजर जो मुसलसल मुझ …

इश्क का असर Read More »

लव पे आई ,बाते तु बताओ हमें.-क्रांतिराज

सजदा तु करो भुल पाओ नहीं , लव पे आई बाते तु बताओ,हमे ! कोई करणें प्यार की खिलाओ हमे, दिल की बातें अब तो बताओ हमे ! रब्ब ऐ जाने क्या फैसला है,तेरा , प्यार के खिस्से अब तो सुनाओ हमे ! तेरी हाथो की चुडीया छना-छन करे , अब मेरी भी अरमां जगाओ …

लव पे आई ,बाते तु बताओ हमें.-क्रांतिराज Read More »

इश्क का असर-पंकज भट्ट

तेरी आगोश से जो लिपटा हुआ मेरा सर है कट भी जाएगा अगर ये तो फिर क्या डर है जिस तरफ देखो खुशियाँ दौडी आ रहीं हैं मेरी तरफ कितना दिलनशींं ये तेरे मेरे इश्क का असर है अब तो ये कडी धूप भी बनके बारिश मुझपे बरस रही है तेरी लहकती नजर जो मुसलसल …

इश्क का असर-पंकज भट्ट Read More »

ये किसी शाह का फ़रमान नज़र आता है-राहुल

ये किसी शाह का फ़रमान नज़र आता है गाँव का गाँव ही वीरान नज़र आता है कौन जीता है यहाँ काट रहे जीवन सब किस में अब जीने का अरमान नज़र आता है हौसला हो तो कोई राह नहीं मुश्किल है पंथ मुश्किल भी हो आसान नज़र आता है तेरे अंदर है भरा डर जो …

ये किसी शाह का फ़रमान नज़र आता है-राहुल Read More »

गजल-अजय कुमार

.💔💘 शेर – तुमने हर पल मुझे यूँ ही धोखा दिया, अपनी चाहत में मुझको यूँ रुसवा किया | बात हर एक तुम ने जो मुझसे कही , उसको न निभा के बस दिखावा किया | छोड़ कर मैं तुझे यू चला जाउंगा, सारी बातें तेरी मैं भुला जाऊंगा | झूठे वादे किए थे ये …

गजल-अजय कुमार Read More »

गजल-अजयकुमार

हर वक्त फिदा हर वक्त फिदा हर वक्त फिदा हूं तेरे लिए जीने के लिए कोई आस न थी फिर भी जिंदा हूं तेरे लिए हर वक्त फिदा………… जीने के लिए…………. तेरी काली काली ये जुल्फे चमकीली घटाये लगती हैं तेरी तिरछी सी ये आँखे अमृत की सी प्याली लगती हैं तेरी हिरनी जैसी ये …

गजल-अजयकुमार Read More »

मेरे प्यार के खिस्से उनमे भी बस्ती है .

देखि तस्वीर उनकी तो मेरी तस्वीर दिखती है , मेरे प्यार के खिस्से उनमे भी बस्ती है ! तन्हां रह न सकुँ,ऐसी दिल भी कहती है, मेरा दिल कहती है ,उन्हें भी दिल कहती है !मेरे मै ऐ जान पऊगा ,तेरे दिल क्या कहती है , मेरा दिल क्या कहती है ,हरपल दिल मे बस्ती …

मेरे प्यार के खिस्से उनमे भी बस्ती है . Read More »

दिल की डायरी से-संजू निर्मोही

तुम्हारे दिल की आवाज को दिल से अपने सुना हम करेंगे, मौहब्बत करना गुनाह है अगर, तो ये गुनाह हम करेंगे । आरजू है बस यही दिल की हसरत यही है, ख्यालो में भी तेरे प्यार के सपने बुना हम करेंगे, मौहब्बत करना गुनाह है अगर, तो ये गुनाह हम करेंगे ।। मरीज ए मौहब्बत …

दिल की डायरी से-संजू निर्मोही Read More »

ग़ज़ल-अभिनव मिश्र अदम्य

ग़ज़ल काफ़िया- अल रदीफ़- गए हैं। 221 2122 221 2122 कुछ इश्क़ के दीवाने हमको भी’ छल गए हैं। जिनपर किया भरोसा वो ही बदल गए हैं। हालात हैं बुरे तुम वो छोड़कर चले हो अरमान दिल के सारे मेरे मसल गए हैं। मेरी खता हुई जो बातों में तेरी आयी जो बेबसी में दिल …

ग़ज़ल-अभिनव मिश्र अदम्य Read More »

कुछ बात तो है-महक -अंसारी

कुछ बात तो है जो मुझे तुझसे जोड देती है किसी और से रिश्ते के ख़्याल को भी तोड देती है , बे वजह तो नही तुझे तक़लीफ़ में देखकर मेरी आंखे भर आना तेरे ग़म मे रोना तुझे खुश देखकर मुस्कुराना , कुछ बात तो है कुछ बात तो है के तेरी एक झलक …

कुछ बात तो है-महक -अंसारी Read More »

प्यार के किस्से-धीरेन्द्र-पांचाल

मीले थे कल जो तुमसे हम , उसी बाजार के किस्से । लिखूंगा आज कागज पर , हमारे प्यार के किस्से । पलटकर देखता था मैं , इरादे नेक थे अपने । थोड़ी शैतानियां भी थी , थोड़े एहसास थे अपने । तलाशा अंजुमन में भी , तेरे दीदार के किस्से । लिखूंगा आज कागज …

प्यार के किस्से-धीरेन्द्र-पांचाल Read More »

ग़ज़ल-ए-गुमनाम-डॉ. सचितानंद -चौधरी

ग़ज़ल-ए-गुमनाम ग़ज़ल-37 महफ़िल में उनकी , कुछ यूँ आज़माए गए हैं कुछ तो पी गए थे ख़ुद , कुछ पिलाए गए हैं इश्क मय से होने लगी मुझको इस कदर कि तस्वीर – ए – साकी मेरे घर सज़ाए गए हैं ख़ुशियों की बाज़ार में इक दुकान गम की मेरी आरज़ूओं के कुछ आँसू वहाँ …

ग़ज़ल-ए-गुमनाम-डॉ. सचितानंद -चौधरी Read More »

Join Us on WhatsApp