Notification

वेद

जन्म लेख -अभिषेक कुमार “चित्रांश”

जन्म लेख आज्ञा विधाता जन्म मिले, लिख ज्योतिष तब लग्न मिले। पहले लेखा भाग्य विधाता, ता पीछे जन्म है पाता। नव ग्रहों के शुभ दंगल में, बारह रश्मियों की किरणों में, नन्ही मुट्ठी बंद हाथ लिए, पर्वत लकीरें सब साथ लिए। निकले गर्भ जून से बाहर, तब खुली हवा में सांस लिए। जल माटी अग्नि …

जन्म लेख -अभिषेक कुमार “चित्रांश” Read More »

कुण्डली ज्ञान – प्रथम -अभिषेक कुमार “चित्रांश”

कुण्डली ज्ञान – प्रथम बारह किरणें ग्रह पति की, जानो राशियों के नाम। गुरु, गणेश, गायत्री, गीता, मां गंगा करें कल्याण। सूर्य यहां के राजा हैं, तो रानी चन्द्रमा मान। पढ़ो ध्यान लगाकर बंधु, यह परम ब्रह्म वेद ज्ञान। प्रथम *मेष* का स्वामी मंगल, अष्टम *वृश्चिक* भी साथी है। द्वितीय *वृषभ* है शुक्र अधीन, सप्तम …

कुण्डली ज्ञान – प्रथम -अभिषेक कुमार “चित्रांश” Read More »

श्री भागवत गीता का ज्ञान किसने बोला जानिये सत्य क्या हैं ?

पवित्र गीता का ज्ञान श्री कृष्ण जी ने नही दिया काल ने दिया था। पवित्र गीता जी के ज्ञान को उस समय बोला गया था जब महाभारत का युद्ध होने जा रहा था।अर्जुन ने युद्ध करने से इन्कार कर दिया था। युद्ध क्यों हो रहा था? इस युद्ध को धर्मयुद्ध की संज्ञा भी नहीं दी …

श्री भागवत गीता का ज्ञान किसने बोला जानिये सत्य क्या हैं ? Read More »

पवित्र भागवत गीता जी का सार सन्देश

श्रीमद्भगवद्गीता जी का अनमोल यथार्थ पुर्ण ब्रम्ह ज्ञान (गीता प्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित)  मैं सबको जानता हूँ, मुझे कोई नहीं जानता (अध्याय 7 मंत्र 26)  मै निराकार रहता हूँ (अध्याय 9 मंत्र 4 )  मैं अदृश्य/निराकार रहता हूँ (अध्याय 6 मंत्र 30) निराकार क्यो रहता है इसकी वजह नहीं बताया सिर्फ अनुत्तम/घटिया भाव काहा है, …

पवित्र भागवत गीता जी का सार सन्देश Read More »

परमात्मा के संसार में प्रकट होने का वेदों में प्रमाण-ऋग्वेद

ऋग्वेद मण्डल 9 सूक्त 96 मंत्र 17 शिशुम् जज्ञानम् हर्य तम् मृजन्ति शुम्भन्ति वह्निमरूतः गणेन। कविर्गीर्भि काव्येना कविर् सन्त् सोमः पवित्राम् अत्येति रेभन्।।17।। अनुवाद – पूर्ण परमात्मा (हर्य शिशुम्)मनुष्य के बच्चे के रूप में (जज्ञानम्)जान बूझ कर प्रकट होता है तथा अपने तत्वज्ञान को (तम्)उस समय (मृजन्ति) निर्मलता के साथ (शुम्भन्ति)उच्चारण करता है। (वह्नि)प्रभु प्राप्ति …

परमात्मा के संसार में प्रकट होने का वेदों में प्रमाण-ऋग्वेद Read More »

Join Us on WhatsApp