Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Latest Funny Jokes Hindi Collections – January 2017

Latest Funny Jokes of 2017

Latest funny jokes of January 2017, top hits and most funny in hindi, Santa Banta Hindi, Shayari, Boyfriend and Girl friend, pati patni, Teacher Student SMS

 

लड़की:-छी छी.. वो देखो.. एक लड़का दुसरे लड़के को “फ्लाइंग किस” दे रहा है .

लड़का:- पगली… वो लड़का अपने दोस्त से बीड़ी मांग रहा है।

?????

गर्लफ्रेंड – हाय जानू क्या कर रहे हो ?? 

बॉयफ्रेंड – पैसे जोड़ रहा हूँ !? 

गर्लफ्रेंड – ओह.. मेरे नए फोन के लिए पैसे जोड़ रहे हो ना जानू.. कितने अच्छे हो तुम ?? . .

 बॉयफ्रेंड – 100 रुपए का नोट फट गया है उसको जोड़ रहा हूँ? टेप लगाकर? क्वाटर के लिए ?

?????

…हे भगवान. इतनी ठंड ना करिये !! !!

महारे चिपट क सोवण आली कोना आरी…..# कुंवारा स्टाफ

आशिक पागल हो जाते हैं प्यार में,

बाकी कसर पूरी हो जाती है इंतज़ार में,

मगर ये दिलरुबा नहीं समझती,

वो तो गोल गप्पे और पपड़ी खाती फिरती है बाज़ार में ।

?????

बॉय: जितना आपकी बेटी ? एक महीने म उड़ाती है उतना तेल मेरी गाड़ी? एक दिन म खाती है

बाप: बेटा कौन सी गाड़ी चलाते हो.

बॉय: रेलगाड़ी

?????

टीचर:- धोबी का कुत्ता ना घर का ना घाट का,??

ऐसा ही एक और सेंटेंस बताओ।☺

Pappu:- सानिया मिर्जा का बच्चा ना भारत का ना पाकिस्तान का।???

Teacher बेहोश!!

?????

बचपन में देखा कि *गर्मी ऊन* में होती है।

स्कूल में पता चला *गर्मी जून* में होती है।

इधर पापा ने बताया कि *गर्मी खून* में होती है।

ज़िंदगी में बहुत *धक्के खाये* तब जाकर पता चला कि गर्मी ना तो खून में,

ना जून में और ना ही ऊन में होती है, *गर्मी तो नोटों के जुनून* में होती है। 

?????

 खुदा करे किसी को जुदाई न मिले। वाह वाह…

खुदा करे किसी को जुदाई न मिले वाह वाह…

जो हमारे ग्रुप में मेसेज न करे उसे लुगाई न मिले।.

अब बोलो वाह वाह …॥

?????

बेचारा आदमी :जब सर के बाल न आये तो दवाई ढूँढता है..?

जब आ जाते है तो नाई ढूँढता है..?

जब सफ़ेद हो जाते है तो डाई ढूँढता है…?

और जब काले रहते हैं तो लुगाई ढूँढता है…!!

?????

?आजकल सातवी कक्षा के लडके? लडकिया ? घुमाते है ????? . .

और एक हम है, जो सातवी तक सिर्फ टायर घुमाते थे ? ? . वो भी हर गली में

?????

छोरा अपने बापू के पीछे खाट पे बीडी पी रहा था –

उसकी माँ उसने देख कै बोली —

देख कमीण अपने बापू के पीछे बैठ के बीडी पीवै सै तनै डर ना लागता –

– छोरा — डरना के है ये बापू है कोई

पैट्रौल पम्प थोडी सै जो आग पकड लेगा

<

p style=”text-align: left;”>??????

421 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Ravi Kumar

Ravi Kumar

मैं रवि कुमार गुरुग्राम हरियाणा का निवासी हूँ | मैं श्रंगार रस का कवि हूँ | मैं साहित्य लाइव में संपादक के रूप में कार्य कर रहा हूँ |

Leave a Reply

पर्यावरण-पुनः प्रयास करें

पर्यावरण पर्यावरण हम सबको दो आवरण हम सब संकट में हैं हम सबकी जान बचाओ अच्छी दो वातावरण पर्यावरण पर्यावरण हे मानव हे मानव पर्यावरण

Read More »

Join Us on WhatsApp