तुमसे मिलने की उम्मीद में – आनंद मिलन।

तुमसे मिलने की उम्मीद में – आनंद मिलन।

तुमसे मिलने की उम्मीद में ताउम्र गुजार लूँगा,
तेरी तस्वीर संग अपनी जिन्दगी बसर लूँगा……।

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति

तुझसे बिछड़ के जाना इस दुनिया में क्या मिला,
तू मिल जाऐ तो सोचूगा फिर से मुझे खुदा मिला।
कब आ जाओ तुम सोच और इंतजार कर लूँगा…….।

पाने की कूछ हसरत ना रही जो रुठू रब से,
जो भी था अपने पास उसे खो बैठा हूँ मैं कब से।
मुझे सब कुछ नहीं मिला सोच सब्रर कर लूँगा……….।

कर के वादा गये थे जल्द वापस लोट आने का,
जाने किस मोड़ पे सोच लिए रास्ता बदलने का।
आँख थकी, उम्मीद कहे आओ तो “मिलन” कर लूँगा……।

Anand Milanआनंद मिलन
दरभंगा (बिहार)

तुमसे मिलने की उम्मीद में – आनंद मिलन।
5 (100%) 2 votes

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account