तुमसे मिलने की उम्मीद में – आनंद मिलन।

तुमसे मिलने की उम्मीद में – आनंद मिलन।

तुमसे मिलने की उम्मीद में ताउम्र गुजार लूँगा,
तेरी तस्वीर संग अपनी जिन्दगी बसर लूँगा……।

तुझसे बिछड़ के जाना इस दुनिया में क्या मिला,
तू मिल जाऐ तो सोचूगा फिर से मुझे खुदा मिला।
कब आ जाओ तुम सोच और इंतजार कर लूँगा…….।

पाने की कूछ हसरत ना रही जो रुठू रब से,
जो भी था अपने पास उसे खो बैठा हूँ मैं कब से।
मुझे सब कुछ नहीं मिला सोच सब्रर कर लूँगा……….।

कर के वादा गये थे जल्द वापस लोट आने का,
जाने किस मोड़ पे सोच लिए रास्ता बदलने का।
आँख थकी, उम्मीद कहे आओ तो “मिलन” कर लूँगा……।

Anand Milanआनंद मिलन
दरभंगा (बिहार)

4+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account