Notification

बेरोजगारी के लिए जिम्मेदारी कौन -युवा या सरकार-अमित कुमार शर्मा

बेरोजगारी के लिए युवा और सरकार दोनो ही जिम्मेवार है। सरकार जहाँ रिक्त पदो कि भर्त्ती निकाल कर बहाली करने मे बहुत ज्यादा समय लेती है। यह कोरोन काल के लिए बात नही है इससे पहले भी बहुत ज्यादा समय लेती थी। आजकल के युवाओ का ज्यादा ध्यान सरकारी नौकरी कि आस मे ही रहता है। बहुत युवाओ का कुछ न कुछ हुनर रहने के बाबजुद भी अपने हुनर का इस्तेमाल न करके सरकारी नौकरी कि तैयारियो मे समय लगाकर अपने करियर को दाँव पर लगाते है। जिससे बेरोजगारी कि संख्या बढती है। सरकार अपने रिक्त पदो कि बहाली मे अगर कम से कम समय पर नौकरी दे तो उसमे बेरोजगारी कि संख्या मे कमी दिखेगी। बेरोजगारी बढ़ने मे कही न कही प्राइवेट सेक्टर का हाथ भी कम नही है। प्राइवेट सेक्टर काम तो ज्यादा लेती है मगर उस हिसाब से तनख्वाह नही देती है। जिसके कारण युवाओ का रुझान इस ओर नही जाता है। इसमे सरकार को भी ध्यान देने कि जरूरत है। जिससे बेरोजगारी कि दर मे कमी आयेगी । बहुत से युवाओ मे हुनर रहने के कारण आगे बढ़ने कि कोशिश मे लगे होते है लेकिन सरकार से सहयोग न मिल पाने के कारण इनका हुनर खो जाता है। जिससे बेरोजगारी कि संख्या मे इजाफा होता है।

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp