Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

अभी नहीं तो कभी नहीं -अभिषेक-राव

📗📗 जो खुद से कभी लड़े नहीं ,जो कभी किसी से भिड़े नहीं ।📙
😑जो गिरकर कभी उठे नही, जो मुस्किलो मे कभी डटे नहीं।। 📖📖

जो सहकर भी कभी सहे नहीं 🙏🙏
जो डर से आगे गए नही।।
वो रह कर भी कभी रहे नहीं ।😡😐
जो टूट कर भी कभी जुड़े नहीं ।।

उनकी मैं आवाज बनूँगा ,🙋🙋
उनके दिल का साज़ बनूँगा ।
जिस तरह वो हार के बैठे है खुद से
उसी से उनको जीत के पार करूँगा।।🙌🙌🙌🙌👍👍

किस्मत के हो भरोसे ,😡😄😄
रातों को नहीं सोते ,
लगतीं तुझे है बातें
जग- जग कहीं हो रोते😡😢😢

रहते हो दूर घरों से।👋👋
माँ बाप के करों से।
हारे हो तुम सभी से
जीते नहीं किसी से।।👊👊

तूम टूट के जुडोगे।👪👫👫💗💗
हर जित पे आड़ोगे 👌👌
तुम मर के भी जियोगे 👣
लेकिन कब__________
संघर्स जब करोगे ,संघर्स जब करोगे ।।।😀🙋🙋👍👍👍
☺☺

खोया अभी है क्या 😌😌😏
जो फिर नहीं मिलेगा
जम गया जो बर्फ
क्या वो फिर नहीं गलेगा।।😎😎😎

बुझ गयी जो आग 👻👻 क्या वो फिर नहीं जलेगा।
हो गयी जो सुबह क्या वो
फिर नहीं ढलेगा।।💃💃💃

हिमत्तो से हार कर 😶😶
खुद को खुद से मार कर
थम गया तू जिस जगह पर
उस जगह को पार कर।।😏😏🙌

क्योंकी___________😵😵

एक दिन ऐसा भी होगा जब तू जीतेगा फिर हार कर ।।🎩🎩💰💰

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp