Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

एक कदम success की ओर-अनु राजपूत

सीढिया उनके लिए बनी है,
जिन्हें छत पर जाना है,
लेकिन जिनकी नजर आसमान पर हो,
उन्हें तो रास्ता खुद बनाना है।

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp