Notification

नशीले पदार्थों के खिलाफ मुहिम-वीरेंद्र देवांगना

नशीले पदार्थों के खिलाफ मुहिम::
योगगुरु बाबा रामदेव ने कहा है कि मायानगरी के ड्रग्सकांड में उन बड़े सितारों को सामने आकर बयान देना चाहिए, जो इसके खिलाफ हैं। अन्यथा यह माना जाएगा कि इसमें उनकी मौन स्वीकृति है। गलत को गलत कहने की हिम्मत दिखानी होगी, तभी देश में सुधार होगा।
नशीले पदार्थ का सेवन मानवता के खिलाफ अपराध है। यह कुप्रवृति उस भोले विश्वास का खून है, जो देश के दर्शक फिल्मी-सितारों को अपना आदर्श मानती है। गंजेड़ी लोग युवावर्ग के आदर्श कैसे हो सकते हैं? यह एक ऐसा दलदल है, जो इसमें फंस जाता है, वह फंसता ही चला जाता है।
इस मुहिम को तब तक चलाया जाना चाहिए, जब तक इसकी जड़ तक न जाया जाए और उन सब को बेनकाब न किया जाए, जो इसके सेवन, प्रमोशन और खरीदी करने के दोषी हैं।
उन्होंने यह भी कहा कि नशे से छुटकारा पाने का एकमात्र उपाय यह कि नशेड़ी, भंगेड़ी व गंजेड़ी सुबह-शाम योग व प्राणायाम करे।
वाकई यह शर्मनाक है कि बालीवुड के सितारे एक ओर तो करोड़ों की मर्सिडिज गाड़ियों में घूमते हैं, आलिशाल कोठियों में रहते हैं, नग्न प्रदर्शन करते हैं और देररात तक ड्रग्स की पाटियों में डूबे रहते हैं, तो दूसरी ओर फिल्मों में उच्चादर्श पेश करने का ढोंग रचते हैं।
इससे हिंदुस्तान की संस्कृति व सभ्यता का नाश हो रहा है। हम विदेशी भोगवादी सभ्यता के गुलाम बनते जा रहे हैं। सनातन धर्म को चोट पहुंच रही है। लोग भोगी व विलासी बनते जा रहे हैं। युवा पीढ़ी दिग्भ्रमित हो रही है और नशे के गव्हर में डूबकर अपना जीवन बर्बाद कर रही है।
समझ से परे यह भी कि जब मुंबई में नशीले पदार्थों का इतना बड़ा कारोबार और सेवन चल रहा है, तब मंुबई पुलिस, खुफिया पुलिस और वे तमाम एजेंसियां क्या कर रही है, जो नशीले पदार्थों की तश्करी को आए दिन बेनकाब करने का दावा करती रहती हैं? समय रहते उन्होंने नशालीला का भंडाफोड़ क्यों नहीं किया?
अब भी समय है कि बड़े और स्थापित सितारों को आगे आना चाहिए और नशाले पदार्थों के खिलाफ मुहिम में शामिल होना चाहिए।
–00–

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp