Notification

“पत्थर पर लिखना “👬🌰-अर्चिता-प्रिया

एक बार दो भाई समुद्र के किनारे टहल रहे थे ।
दोनों में किसी बात को लेकर बहस हो गई और बड़े भाई ने छोटे भाई को थप्पड़ मार दिया ।
छोटे भाई ने कुछ नहीं कहा और रोते-रोते बस रेत पर लिख दिया कि ….””आज मेरे भाई ने मुझे मारा है””””।
अगले दिन दोनों फिर समुद्र के किनारे घूमने निकले ।छोटा भाई समुद्र में नहाने लगा और नहाते – नहाते वो डूबने लगा ,,,,, तो बड़े भाई ने अपने जान की परवाह न करते हुए उसे बचाया ।
तो उसने पत्थर पर लिखा कि …”” आज मेरे भाई ने मुझे समुद्र में डूबने से बचाया “” ।
बड़े भाई ने पूछा …'” जब मैंने तुम्हें मारा तो तुमने रेत पर लिखा और जब मैंने तुम्हें बचाया तो तुमने पत्थर पर क्यों लिखा””…..?
विवेकशील छोटे भाई ने बड़ी ही विनम्रता से कहा …..”” भैया जब हमें कोई दुख दे तो रेत पर लिखना चाहिए ,,,, ताकि वह जल्दी मिट जाए और जब कोई हमारे लिए अच्छा करे तो हमें पत्थर पर लिखना चाहिए,,,, जो कभी मिट ना पाए और हमेशा हमारे लिए यादगार बन जाए “”””।
शिक्षा…..
इस प्रेरक कहानी से हमें यही प्रेरणा मिली कि हमें बुरी बातों को भूल जाना चाहिए और अच्छी बातें हमेशा याद रखनी चाहिए ।
धन्यवाद दोस्तों🙏🙏💐

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp