हर बार ये दिल तुझसे हार जाता है........ - Karuna bharti

हर बार ये दिल तुझसे हार जाता है........     Karuna bharti     कविताएँ     प्यार-महोब्बत     2022-09-26 23:48:42     Google     56621           

हर बार ये दिल तुझसे हार जाता है........

हर बार ये दिल तुझसे हार जाता है, समझाऊ
कितना भी न ये समझना जनता है
तेरी जो लगी लग गई है, ना ये तुझे भूलना
चाहता है
बेकरारी  दिल की बढ़ जाती है, जो तुझे न
करीब पाता है
सुकू की चाहत है बस तुझसे ही, तुझसे ही ये
दिल मोहाब्बत चाहता है
दूरी अब हमे गवारा नही है, दिल हमेशा तझे
करीब चाहता है
बेबसी भरी है हर पल तेरे बगेर, तेरे ही
साथ अब, कदम- से- कदम मिलाकर चलना चाहता
है👌👌👌👌💓💓💓💓✍✍✍✍💯💯💯💞💞💞💞💞

Related Articles

Writer by Iqrar Ali, मोहब्बत शायरी दिल तोड़
Iqrar Ali (आई क्यों )
झूठ बोलकर भले ही तुम्हारी दुनिया स्वर रही है,क्योंकि सच बोल सके ऐसी तुम्हारी जमीर नही।
157346
Date:
26-09-2022
Time:
23:55
।। आयुर्वेद का दीप जलाएँ जीवन ।।
निर्दोषकुमार "विन"
जीवन और विज्ञान का, जो शास्त्र ज्ञान करवाता है। है वेदो ने भी मान लिया, वह आयुर्वेद कहलाता है।। आयुर्वेद को अपना
6149
Date:
26-09-2022
Time:
23:23
बरसात के बूँद
Ratan kirtaniya
लड़का:- उफ़्फ़ क्या दिलकश नज़ारा हैं कितना प्यारा अच्छा लगता है बरसात के बूंदें हल्का - हल्का हल्क
74141
Date:
26-09-2022
Time:
23:41
Please login your account to post comment here!