Home » कविताएँ

Category: कविताएँ

‘इस कोरोना की जंग में’

आज सुनो तुम,जीवन पल से अगर मगर नहीं,इन्हीं पलों से कोरोना से,डरे नहीं मगर करें वंदन प्रभु,शुक्र अल्लाह से हम हुए बंद,अब स्वयं घरों में

Read More »

‘इस कोरोना की जंग में’

आज सुनो तुम,जीवन पल से अगर मगर नहीं,इन्हीं पलों से कोरोना से,डरे नहीं मगर करें वंदन प्रभु,शुक्र अल्लाह से हम हुए बंद,अब स्वयं घरों में

Read More »

মোৰ মমডাল — কাকলি মজুমদাৰ

ঢিমিক ঢামাককৈ জ্বলি আছে মোৰ মমডাল তাৰ কাষতে বহি এখন অজান পৃথিৱীত বুৰ গৈ আছো মই হঠাৎ , এজাক বতাহে নুমাব খোজে মোৰ মমডাল ,

Read More »
Hindi
नीतेश शाक्य अजनबी

कोरोना जंग ए-ऐलान

मिलो ना तुम सभी प्यारे,कोरोना की बीमारी है। सदा रखना दूरियां तुम, गुजारिश यह हमारी है। जिसने फैलाया है इसको, उसी ने सवाल कर डाला।

Read More »

नववर्ष ये तुझसे वादा है

नववर्ष ये तुझसे वादा है कि भूल पुरानी बातों को और तोड़ वक्त की बेड़ी को थोड़ा वक्त बचाएँगे और खोजेंगे फिर खोया बचपन। कभी

Read More »