Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

ए दोस्त[email protected]

ख्वाबों में पुकारा तुझे
दिल में उतारा तुझे
पलकों पर बैठाया तुझे
सपनों में भी सजाया तुझे
ऐ दोस्त……
मेरी दुआओं में तेरी हर खुशी
चमकते सितारों के बीच तेरी हर हंसी
ए दोस्त…..
तुझ सा कोई प्यारा ,
ना कोई राज दुलारा है
तू चमकते सूरज की वो रोशनी
जिससे मिटता मेरी जिंदगी का हर अंधियारा है ए दोस्त…..

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp