Sahity Live Updates
Home » कविताएँ » भोले बाबा-उमेश चन्द यादव

भोले बाबा-उमेश चन्द यादव

हे भोले बाबा रऊँआ जल्दी से आईं
हे भोले बाबा रऊँआ जल्दी से आईं ,
डमरू क मधुर – मधुर धुनिया बजाईं ।
आ जइती बाबा रऊँआ विनती हमार सुन के ,
बगिया से रखले बानी फल – फूल चुन के ।
अवघर दानी रऊँआ देर ना लगाईं ,
कहेलन उमेश रऊँआ जल्दी से आईं ।।
भिखारी के धन दिहल कोढ़िया के काया ,
मूरखन के ज्ञान दिहल अजब तोहार माया ।
बिगड़ता समाज आके लिहतीं बचाई ,
कहेलन उमेश रऊँआ जल्दी से आईं

 

 

उमेश चन्द यादव
बलिया, उत्तर प्रदेश

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Umesh chand Yadav

Umesh chand Yadav

मैं उमेश चंन्द यादव बलिया उत्तरप्रदेश का निवासी हूँ। मैं श्रृंगार रस का कवि हूँ।

3 thoughts on “भोले बाबा-उमेश चन्द यादव”

  1. 460488 482695Wow! This can be 1 certain of the most useful blogs We have ever arrive across on this subject. Really Great. Im also an expert in this subject so I can comprehend your hard function. 776745

Leave a Reply