चाँद – नेहा श्रीवास्तव

चाँद – नेहा श्रीवास्तव

चाँद को देखा हंगामा हो गया
पुरी दुनिया को मुझपर निगरानी का बहाना हो गया.
मेने प्रेम से क्या देखा मुसीबत हो गयी ,
हर रात मेरी गली मे उसका आना जाना हो गया.

Neha Srivastavaनेहा श्रीवास्तव
उत्तर प्रदेश (बलिया)

0

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account