चाहत है कुछ ऐसी – मुनमुन सिंह

चाहत है कुछ ऐसी – मुनमुन सिंह

ये खुदा मेरी चाहत है कुछ ऐसी
कर दो जरा इसे पुरी।
दुनिया में कर दो नयी चमत्कार
चमक जाये सारा संसार।
तु काटो से ले आदे बहार
चमक जाये जिंदगी का हर तार।
ये खुदा मेरी चाहत है कुछ ऐसी
कर दो जरा इसे पुरी।
तु गरीबों पर कर दो कुछ उपकार
बदल जाये पुरी धरा अपरम्पार।
तु कर दे वर्षा मूसलाधार
वृक्ष भी हो जाये असरदार।
ये खुदा मेरी चाहत है कुछ ऐसी
कर दो जरा इसे पुरी।

–मुनमुन सिंह

1+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account