चूहों की बारात निकालेंगे – मुनमुन सिंह

चूहों की बारात निकालेंगे – मुनमुन सिंह

हम सब चूहों की बारात निकालेंगे।
खुब मस्ती और मौज मनायेंगे।
धुम – धाम से शादी होगी।
डॉगी साहब आयेंगे।
खुब चिल्लायेंगे। कैसे
भों – भों – भों
हम सब चूहों की बारात निकालेंगे।
चूहें रानी के घर जायेंगे।
खुब दही – बड़ा खायेंगे।
बंदर भईया आयेंगे।
अपनी दुम खुब मटकायेंगे।
हम सब चूहों की बारात निकालेंगे।
चिड़िया बहन जायेंगी।
खुब मस्त – मस्त गाना गायेंगी।
तोता साला आयेंगे।
सब की विदा – विदाई करायेंगे।
हम सब चूहों की बारात निकालेंगे।

—मुनमुन सिंह

Ravi Kumar

मैं रवि कुमार गुरुग्राम हरियाणा का निवासी हूँ | मैं श्रंगार रस का कवि हूँ | मैं साहित्य लाइव में संपादक के रूप में कार्य कर रहा हूँ |

Visit My Website
View All Articles

I agree to Privacy Policy of Sahity Live & Request to add my profile on Sahity Live.

3+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account