Notification

चुनाव आया है-नरेंद्र-नायक

आज गांव कि गलियां साफ हो गई, अब नालियो मे पानी नही रूकता है!
चारो तरफ स्वच्छता अभियान चला है, कई सालो से पड़ा कचरे का ढेर भी आज नही दिख रहा है!!

पुरे गांव को दुल्हन कि तरह सजा दिया!
कई सालो से सो रहे मास्टर जी ने बच्चो को आज सारा ज्ञान सिखा दिया!!

बुजुर्गो को कम्बल और बच्चो को मिठाई खिलाई जा रही है!
नशेड़ीयो मे शराब और माताओ मे शोल बाटी जा रही है!!

फिर गाड़ियों का एक काफ़ीला आता है, चारो ओर हाहाकार मच जाता है!
यह माताए मेरी यह बहने मेरी यह साथी मेरे यह बुजुर्ग मेरे ऐसे ही झुमले कहकर कोई पुरे गांव को गोद ले जाता है!!

पता नही ये उजले-उजले वस्त्र पहने गांव का बेटा कौन आया है!
कोई बड़ा आदमी लगता है, बड़ा आदमी ओर वो भी हाथ जोड़े खड़ा है? लगता है गांव मे चुनाव आया है!!

जब से कुर्सी मिली गांव का बेटा फिर परदेश चला गया!
ना जाने कब लौटकर आयेगा, हमे सुनहरे सपने दिखाने वाला कब हकीकत बनकर आयेगा!!

आज इतने बरसो बाद फिर गांव चमचमा रहा है!
हमारी मरी हुई उम्मीदो को कोई कंधा देने आ रहा है!
फिर से कोई नया शख्स गांव को गोद लेने आ रहा है!
फिर कोई खड़ा है हाथ जोड़े लगता है फिर से चुनाव आ रहा है!!

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp