Notification

कोरोना महामारी-कमलेश-गीतकारी

                           जय माँ शारदे

तर्ज :- वैरिन है गई जुनैया मैं कैसी करूँ ——————————————–|
टेक :- दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें |
1. कोरोना बैरी कहाँ से आया, जग में कोई समझ न पाया,,
कोरोना है कि जादू टौना, अब कैसी करें ||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें —————————————–|
2. नहीं भरोसा रहा किसी का, जन बच्चों के लगा मुसीका,,
जाने कब तक पड़ेगा रोना,अब कैसी करें ||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें —————————————–|
3. हैं भयभीत कोरोना के डरसें, निकल रहा नहीं कोई घर से,,
फिर भी तनिक घटोना, अब कैसी करें ||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें —————————————–|
4. ना कहूँ जांवें हाट बजारें ,धंधे बिन कैसे वक्त गुजारें,,
बिन काम भयो नर बोना, अब कैसी करें ||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें ——————————————|
5. भयानक है कोरोना बीमारी , फैलादी जग में महामारी,,
लासों के विछे बिछोना, अब कैसी करें ||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें ——————————————|
6. पढ़ाई हुई साल की चोपट, बढ़गई बच्चों के दिल खोखट,,
अभिवावक रोइ रहे रोना, अब कैसी करें||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें ——————————————|
7. रोग नहीं है कहर राम का, भूला गितारी क्यों भजन श्याम का,,
लीला रचता है नन्द को छोना,अब कैसी करें ||
दुश्मन बनौ कोरोना, अब कैसी करें ——————————————|

गीतकार
कमलेश कुमार उर्फ गितारी कठेरिया
ग्राम बिदरखा पोस्ट दाखिनारा
शिकोहाबाद जिला फ़िरोज़ाबाद
Mo.No:- 8171409185

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp