Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

दुनिया-नरेंद्र-नायक

जाने कितने लोग मिले इन खाली रसतो पर!
कुछ दिल के काले मिले कुछ उजले रसतो पर!!

जब भी कोई नया है मिलता नया भैष दिखलाता है!
कुछ दिनो के बाद वो असलियत पर आता है!!

जाने कितनी भाषाएं रखता जाने कितने चेहरे है लगाता!
पहले मिठा फिर खारा फिर नीम सा कड़वा हो जाता है!!

कोई नेकी करता है तो कोई पाप करता रहता है!
कोई प्रेम से रहता है तो कोई धक्का मुक्की करता है!!

कोई कमजोर होकर भी महनत करके खुद्दारी से जीता है!
कोई नेता बनकर मेहनत पर हक जमाता है!!

कोई अपना पेट काटकर बच्चे को पढ़ाता है!
बच्चा भी महनत करता और जाने कितने सपने देखता!
फिर भी पैसे वाले का बेटा ही प्रथम आता है!
गरीब तो पढ़ लिखकर सिर्फ बेरोजगार कि सूची मे ही नाम लिखवाता है!!

जाने कितने लोगो कि तिजोरी मे कुछ भी नही पर वो दिल के धनी होते है!
मन के काले लोगो के विदेशो मे लोकर होते है! !
जाने कितने लोग मिले इन खाली रसतो पर!
कुछ दिल के काले मिले कुछ उजले रसतो पर! !

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp