ए हवा-चेतन वर्मा

ए हवा-चेतन वर्मा

ए हवा यह बता
क्यों तोड़ गई वह दिल मेरा
क्यों इतना इतराती है
क्यों सताती है
जा उनसे पूछ कर आ

क्यों मेरी याद नहीं आती
कोई और मिल गया क्या
कुछ देर तो थम जा ए हवा
मेरा दिल बेचैन है
उनके कानों में खबर डाल कर आ

क्यों मुझे बेगाना कर दिया
थोड़ा तहजीब सिखा दे जा
कह दे उन्हें किसी को तड़पाना
अच्छी बात नहीं है
ए हवा यह बता
क्यों तोड़ गई वह दिल मेरा..

 

 

            चेतन वर्मा
         बूंदी, राजस्थान

 

 

 

 

 

1+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account