हे! ईश्वर मुझे नेता बनवा दो – संजय सिंह राजपूत

हे! ईश्वर मुझे नेता बनवा दो – संजय सिंह राजपूत

हे! ईश्वर ऐसा वर दो मैं भी नेता बन जाऊं।
घोटाले पर घोटाला कर संपत्ति अथाह जुटाऊं।
अपना सारा कालधन विदेशों में जमा कराऊं।
गाड़ी, बंगला लेकर मैं, परियों संग मस्ती उड़ाऊं।

चुनावी वादों को मैं पांच साल के लिए भूल जाऊं।
जनता मुझसे सवाल ना करें ऐसा मैं धमकाऊं।
जहां जिनकी जनसंख्या हो धर्म वही अपनाऊं।
ईमानदार नेता को भी मैं, बड़ा भ्रष्टाचारी बतलाऊं।

माफिया भी मेरे पांव पूजै सबका सरदार मुझे बनवा दो।
कृपा करो हे दिन दयाला जनता का प्रभु मुझे बनावा दो।
होत प्रात: मैं रोजाना आपके मंदिर में आऊंगा।
घोटाले के पैसों से नित छप्पन भोग लगवाऊंगा।

चिंता ना करें मेरे प्रभुवर आपको टेंट में नहीं रहने दूंगा,
अकबर के अवलादों को नहीं अयोध्या में रहने दूंगा।
सारी जनता त्रस्त होगी और मैं मदमस्त होकर,
पत्थर का यह मुकुट हटा स्वर्ण मुकुट लगाऊंगा।

Sanjay Singh Rajputसंजय सिंह राजपूत

1+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account