Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

काश-उजाला-बाथम

काश मेरे पास इतना समय होता तो मैं ऐसा कमाल कर देती या कमाल कर देता..
जब तुम 24 घंटे में कुछ नहीं कर पा रहे हो । तो 26 घंटे में क्या उखाड़ लोगे,
कुछ नहीं


काश तुम्हें कब बकवास बना देगा,
पता नहीं चलेगा…
इसलिए काश को त्याग कर,
अपने लक्ष्य के विकास में मेहनत करो।
उजाला

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp