मॉ की प्यारी आँचल – पूजा कुमारी

मॉ की प्यारी आँचल – पूजा कुमारी

मॉ की प्यारी आँचल हैं|
हर दुनिया की न्यारी आँचल हैं|
जहॉ जाओ हर जगह पर

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति

माँ ममता की आँचल हैं|
हर परछाई में एक ही मुरत
वह दुनिया की सबसे प्यारी मुरत
हर जगह पर एक ही नाम हैं
बह है | माँ ममता की आँचल|
हर कष्ट मे वह हमारे साथ हैं
हर नफरत मे वह हमारी भगवान हैं
हर पल आँखो मे एक ही झलक हैं
वह हैं| प्यारी ममता की आँचल|
जग की सबसे प्यारी आँचल
हर जगह पर सबसे न्यारी आँचल
यह सुख हर किसी को पृाप्त नही होती
हर किस्मत वाले को ही मिलते हैं|
हर सुरत मे एक ही परछाई
हर नफरत की प्यार मे एक ही परछाई
हर खुशी की प्यार मे एक ही परछाई
वह हैं| ममता की प्यारी आँचल|
सारे जहाँ की सबसे प्यारी आँचल
हर बच्चो को लुभाती यह आँचल
सभी लोगो के मुँह पर एक ही नाम हैं
माँ ममता की प्यारी आँचल|

Pooja Kumariपूजा कुमारी
समस्तीपुर(बिहार)

मॉ की प्यारी आँचल – पूजा कुमारी
1 (20%) 1 vote

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account