मित्र हैं कौन-मुनमुन सिंघा

मित्र हैं कौन-मुनमुन सिंघा

एक गाँव में की बात हैं ।एक किसान के पास दो बेटी और कोई लड़का नहीं था ।किसान बड़ी मेहनत से मजदूरी करता था ।दोनों बेटियाँ हमेशा एक साथ पढ़ने जातीं थीं ।सभी काम दोनों साथ -साथ करतीं थीं ।बड़ी बेटी का नाम रोहीनी और छोटी लड़की का नाम रजनी था ।रोहीनी की कोई दोस्त नहीं थीं ।वह अपने किताबों को अपना दोस्त मानती थी ।अपनी पढ़ाई मन लगाकर करतीं थीं ।वह हमेशा पढ़ाई पर ही ध्यान देती थीं ।रजनी के पास एक जूही नाम की दोस्त थी ।वह पढ़ाई पर ध्यान नहीं देती थीं ।अपने दोस्त के साथ ही रहती थीं ।वह विद्यालय में जूही के साथ मिलकर रोहीनी का मजाक उडाती थी ।घर वाले रजनी को पढ़ाई करने के लिये कहते थे ।तब रजनी घर से ही कई दिनों के लिये भाग जातीं थीं ।परीक्षा परिणाम आने पर रोहीनी के अंक अच्छे आइये थे।रजनी फेल हो गयी थीं ।रजनी की पिटाई की गयी ।इस बात पर रजनी नदी में कुदरत करतीं मर गयी ।

 

 

        मुनमुन सिंघा     
  मीरजापुर ,उत्तर प्रदेश

1+

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account