पिया रे – चेतन वर्मा

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति

पिया रे – चेतन वर्मा

तेरा मोह झूठा ….
पिया रे …😍
झूठे हैं इरादे तेरे
झूठी तेरी मुस्कुराहट रे
झूठे लोगों की बातें
झूठी तेरी दुनिया रे ,

पक्की डोर से बंधा रिश्ता
अब लगता कच्चा रे ,
किस शख्स पर यकीन करूं
समझ नहीं आता रे ,
प्यार की मिसाल बना ताजमहल
बेकसूरों के हाथ कटवाता है रे ,

चेहरा अच्छा सजावटी बना लेते हैं
मुखोटे के अंदर जाने क्या क्या चलता है रे ,
कुछ ख़त लिखे मैंने उनको मजाक बना दिया रे ,
छोड़ दिया मैंने अपनी बात रखना
सब गलत फायदा उठाते हैं रे ,
तेरा मोह झूठा ….
पिया रे ….😍

chetan vermaचेतन वर्मा
( बूंदी ) राजस्थान

पिया रे – चेतन वर्मा
4 (80%) 1 vote

0

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account