Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

सपने – नविन

मेरे जीवन का आधार हैं मेरे सपने,
मेरी खुशियों का पैगाम हैं मेरे सपने,
मेरे अपने विचार हैं मेरे सपने,
अपने भी साथ न दे,
साथ देते हैं मेरे सपने,

नविन
भरतपुर (राजस्थान)

73 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Ravi Kumar

Ravi Kumar

मैं रवि कुमार गुरुग्राम हरियाणा का निवासी हूँ | मैं श्रंगार रस का कवि हूँ | मैं साहित्य लाइव में संपादक के रूप में कार्य कर रहा हूँ |

4 thoughts on “सपने – नविन”

  1. 976438 330308Id need to consult you here. Which isnt some thing Which i do! I enjoy reading a post that can make people feel. Also, appreciate your allowing me to comment! 827985

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp