Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Category: शायरी

मोह्बत -रुखसार अंसारी

है तुझसे बेहद मोहब्बत मगर इजहारे इश्क़ तुझसे नहीं खुदा से करते है। तुझसे किया तो तेरी धड़कने बेताब होगी मगर अपने रब किया तो

Read More »

मासूम दिल -रुखसार अंसारी

मासूम बहुत है दिल मगर, इतना आसानी से अब पिघलता नहीं है, जज्बाती होकर बिना सोचे समझे , कोई भी फैसला करता नहीं है, रुखसार

Read More »

इश्क -नवीन शर्मा

इश्क गिले-शिकवे भुलाए कौन दर्द पर मरहम लगाए कौन।💕 यह इश्क है उम्मीदों का वरना जिस्म पे दाव लगाए कोन।।💕 💕 इजहार करना है इजहार

Read More »

दिल हो या जज्बात – रुखसार अंसारी

दिल हो या जज्बात हो सबको लिमिट में रखते है। किसी का हुक्म चले मुझ परऐसा बिल्कुल नहीं है हम सबको उनके हद में रखते

Read More »