Home » कविताएँ » शायरी

Category: शायरी

हरेक गम जिंदगी के अपने

हरेक गम जिंदगी के अपने, मुझे अता करते जाना । हम मुआफ़ करते रहेंगे, बस तुम खता करते जाना। तुम्हारी खुशियों की तमन्ना होती है,

Read More »

बेरोजगारी, तुझे जाना ही पड़ेगा।

बेरोजगारी आज, हर जहां में पसरी है। कहां गए वे युवा ,जिनसे आज भी यह उतनी ही डरती है।। ढूंढ लाओ दोस्तो, उन युवाओं को

Read More »

बेरोजगारी, तुझे जाना ही पड़ेगा।

बेरोजगारी आज, हर जहां में पसरी है। कहां गए वे युवा ,जिनसे आज भी यह उतनी ही डरती है।। ढूंढ लाओ दोस्तो, उन युवाओं को

Read More »