Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

एक दर्द ही सही आंखो में पानी तो रहे-डॉ.सतीश चंद्र

एक दर्द ही सही आंखो में पानी तो रहे।
ऐ दोस्त तेरे होने की निशानी तो रहे।
बस यही सोचकर दिल को मना लेता हूं।
इस महफिल में तेरी याद पुरानी तो रहे।
……. ✍️satish Chandra

Leave a Reply

Join Us on WhatsApp