शायरी – शुभम् लांबा

शायरी – शुभम् लांबा

तेरे हुस्न को चाहने वाले लाखों होंगे,
पर तेरी रूह की चाहत सिर्फ मुझे है।

शुभम् लांबा

0

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account