दास्तां – ओमकांति

दास्तां – ओमकांति

अभी तो हमें कुछ पता नहीं था की प्यार होता क्या है पर कोई एक पल के लिए आया और हमें अपना बनाने का फैसला कर गया| जब हमें पता चला तो उसकी जिंदगी बर्बाद हो चुकी थी जाने कितना दर्द शहा होगा उसने| उसकी डायरी जब किसी ने पढ़के सुनाया तो मै रो तो
Complete Reading

विश्वासघात – जीतू दास

इक गांव में इक लड़का रहता था।लड़के के माँ बाप ने अपने बेटे को खूब लाड़ प्यार से परवरिस की और उच्च शिक्षा दिलाई ।लड़के ने भी बहुत महेनत कर अपनी पढाई पूरी की कुछ समय बाद लड़के की महेनत रंग लाई उसकी इक बहुत बड़ी कंपनी में नोकरी लग गई । लड़के के माँ
Complete Reading

तमाचा(दहेज लोभियों के मुँह पर प्ररेणादायक कहानी) – राहुल सिंघल

अपनी नई नवेली दुल्हन प्रिया को शादी के दूसरे दिन ही दहेज मे मिली नई चमाचमाती गाड़ी से शाम को रवि लॉन्ग ड्राइव पर लेकर निकला ! गाड़ी बहुत तेज भगा रहा था , प्रिया ने उसे ऐसा करने से मना किया तो बोला-अरे जानेमन ! मजे लेने दो आज तक दोस्तों की गाड़ी चलाई
Complete Reading

जिंदगी के झरोखे – शशि जैन

निशा ये रोज़ रोज़ के देखने दिखाने के सिलसिले से तंग आ चुकी थी। कल फिर कोई जनाब उसका मुआयना करने आने वाले थे। अभी अभी उनके यहाँ से ही फ़ोन था। निशा ने आई डी कॉलर में नंबर देखा और आव देखा ना ताव , मिला दिया लेकिन उधर से एक दबंग सी महिला
Complete Reading

चेहऱ्यातील साम्य – माधव मुळे

सचिन नुकताच गावाकडून शहराकडे आला होता. गावाकडे दोन भाऊ व तिसरा सचिन, शेती थोडी असल्या कारणाने सचिनला कामासाठी शहरात यावं लागलं होत.सचिन काम बघत फिरत होता तेव्हा अचानक त्याला एके ठिकाणी मिस्तरिच्या हाताखाली हातमजूर पाहिजे अस बोलताना एक व्यक्ती दिसली सचिन त्या व्यक्तीकडे गेला व मला कामाची गरज आहे.मी खूप दुरून आलोय माझ्या पोटासाठी मला
Complete Reading

प्यार क्या है ? – दिशा शाह

आज कल लोगो का मानना ये की प्यार करना होता हैं. लेकिन प्यार तोह हो जाता हैं.प्यार भगवान का दिआ हुआ फरिस्ता हे, प्यार एक अहसास हैं ,कभी भी किसी के साथ हो जाता है. प्यार का एहसास हमेशा दो तरफ से होता है. प्यार में स्वार्थ नहीं होता कभी. बल्कि हमेशा दूसरे व्यक्ति को
Complete Reading

कहानी-कलंकी

   सुबह का समय था. सूरज निकला. उसकी स्वर्ण पीताभ किरणें मेरे मुंह पर आ रहीं थी. मैं बड़े आनंद से उनका अनुभव करते हुए नींद की गोद में सिमटने की कोशिश कर रहा था कि तभी मेरी पूज्य माताजी ने मुझे जगाया. बोलीं, “कब तक सोता रहेगा. चल उठ मुंह धो ले और गाँव के
Complete Reading

मदारी और जमूरे के बीच संवाद – वीरेंद्र देवांगन

‘‘बोल जमूरे?’’ मदारी ने डंका बजाकर जमूरे से पूछा, ‘‘ढम-ढम। ढम-ढमा-ढम।’’ जमूरे व्यथित मन जवाब दिया,‘‘क्या बोलूं उस्ताद? वैष्विक चैधरी से हमें आतंकवादी देष घोषित करवाकर, जन्मजात दुष्मन इतरा रहा है। जबकि आप तो जानते हैं; हमारे यहां आतंकवादी नहीं, आजादी के सिपाही रहते हैं, जो कष्मीर सहित दुनियाभर में आजादी के लिए जंग लड़
Complete Reading

सफलता का रहस्य – सचिन ओम गुप्ता

शहर से कुछ दूर एक बुजुर्ग दम्पत्ती रहते थे| वो जगह बिल्कुल शांत थी और आस -पास कुछ ही लोग ही नज़र आते थे| एक दिन उन्होंने सुबह के समय देखा की एक नवयुवक हाथ में फावड़ा लिए अपनी साइकिल से कहीं जा रहा है, वह कुछ देर दिखाई दिया और फिर उनकी नज़रों से
Complete Reading

तलाश – सचिन ओम गुप्ता

भारतीय लड़कियों को जीवन में दो लोगों की शिद्दत से तलाश रहती है। शादी से पहले अच्छे पति की और शादी के बाद अच्छी कामवाली की। अच्छा पति अगर ज़्यादा अच्छा हो तो लड़की को दूसरी तलाश से बचाया भी सकता है। चूंकि विशाल उतना अच्छा नहीं है फिर भी उसकी बीवी की दूसरी तलाश
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account