Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

लड़कीया सेफ नही-हेमा पांडे

20 अक्टूबर को राजस्थान के नागौर में एक छात्रा के साथ, उसके कॉलेज परिसर में रेप किया गया, प्रेम प्रकाश नाम का लड़का, बताया जा रहा है कि किसी काम से वह, पीड़िता को बुलाया; कॉलेज की ऊपरी मंजिल पर, एक कमरे में ले गया और दरवाजा बंद करके उसके साथ रेप किया. पूरे कॉलेज के सामने उस लड़के ने इस घटना को अंजाम दिया और चुपचाप वहां से फरार हो गया. सोमवार को उस लड़की की तबीयत खराब होने के बाद परिवार को पूरी घटना के बारे में पता चला और फिर उन्होंने थाने में शिकायत दर्ज करवाई. पुलिस मामले की जांच में तो जुट गई योजना बना रही है उस आरोपी को पकड़ने के लिए .आए दिन हो रहे, ऐसी घटनाएं, क्या औरत सेफ है ? औरत कहां सेफ है ..औरत घर में भी सेफ नहीं है बाहर भी सेफ नहीं है ,तो औरत को क्या करना चाहिए. घूंघट निकाल कर एक कमरे में बैठकर चूल्हा चौका करते हुए अपने बच्चों को पालन पोषण करना चाहिए या मर्दों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर जैसे आज औरते बढ़ रही है ..उस तरफ बढ़ना चाहिए जो औरतें कामकाजी है, वह भी पीड़ित है ,आए दिन किसी न किसी चीज की शिकार होती रही है, होती है .जो औरतें घर में है उनका भी यही हाल है .औरत कहीं सेफ नहीं है. यह भ्रम है उन लोगों का की औरत अगर घर में रहेगी ,काम पर नहीं जाएगी तो औरत सेफ रहेगी. यह गलत बात है .औरत कोई गाय तो है नहीं जिसे बांध दिया गया .उसकी रखवाली दिनभर करती रहो ताकि उसे कोई छू ना पाए ,उसे कोई देख ना पाए. बुरी नजर से. यह गलत है .लेकिन अधिकतर गांव में ऐसी मानसिकता है. शहरों में थोड़ा कम है और आज भी 50 पर्सन ऐसी है जो आज भी घर की चारदीवारी में कैदी की तरह जिंदगी व्यतीत कर रही हैं .कारण है कि औरत सेफ नहीं है. उनकी लड़कियां स्कूल जाती है, लेकिन शाम को घर सही सलामत वापस आएगी या नहीं आएगी इसकी कोई गारंटी नहीं है. ना तो स्कूल वालों की, नहीं मां-बाप ही कोई गारंटी नहीं दे सकता .क्योंकि आज का समाज में बढ़ रहे 1 क्रिमिनल सोच रखने वाले मनचले लड़कों की वारदातें. यह सब दिमाग में इस कदर घुस गई है कि सब को देख कर.डर के साथ जीने पर विवश हो रही है. हमें इस सोच को बदलनी होगी .सरकार को आए दिन हो रहे रेप के मामले पर, सोच कर समझ कर एक राजनीतिक और पारिवारिक मुद्दे की तरह से सुलझाना चाहिए. इस पर विचार करनी चाहिए .नए कानून लागू करनी चाहिए .जिससे आए दिन हो रहे औरतों के साथ छेड़छाड़ और रेप बंद हो जाए……

 

 

   Hema Pandeyहेमा पांडे

1 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Hema Pandey

Hema Pandey

मैं हेमा पांडेय बाल साहित्यकार की कवित्री हूँ।

2 thoughts on “लड़कीया सेफ नही-हेमा पांडे”

  1. 155053 131793Great post, I think site owners should acquire a good deal from this web website its quite user pleasant. 549106

Leave a Reply

मांगलिक (भौम) दोष

मांगलिक दोष क्या होता है सामान्यतः किसी भी व्यक्ति की जन्मकुण्डली में प्रथम, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम या द्वादश भाव में मंगल का स्थित होना मांगलिक

Read More »