Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Aditya Singhoffline

  • 10

    posts

  • 0

    comments

  • 447

    Views

गोरी बादल रो संवाद

गोरी बालमा रो संवाद बारह मत निकळ बलमा गोरी थाने कैव! बारह ऊबा खाखी वाळा बाटां थांरी जौव!! मूँछ रे तो तांव देवू उम्र म्हारी जवानी! मैं मर्द...

read more

तुम्हे मिलाता हुँ इस मिट्टी के स्वाभिमान -आदित्य-सिंह

" रचना" धरती धरती तु बड भागनी जो जन्मे वीर सपूत नमन तेरी मिट्टी को बार बार वन्दन इण पावन चरणो मे खुब शहीद हुए तेरे...

read more

मे जीत के लिए जय जय कार करता हुँ। तुम हार के लिए हा हा कार करो -आदित्य-सिंह

🚩🚩जय मेवाड नाथ🚩🚩 🚩मे जीत के लिए जय जय कार करता हुँ। तुम हार के लिए हा हा कार करो । में हर हर महादेव करता जीतुगा। तुम...

read more

दहेज नही बेटियाँ -आदित्य सिंह

""दहेज नही बेटियाँ"" यहाँ मिट्टी की कीमत कुछ नही। पर जरा उस कुम्हार से उस मिट्टी की कीमत पुछ लो साहब। जिससे उसका घर चलता है। । तुम...

read more

घुँघट बोझ नही संस्कार है -आदित्य-सिंह

" घुँघट बोझ नही संस्कार है।" राजस्थान री शान घुँघट। मेवाड़ री माटी री शान है घुँघट । घुँघट घरों री शान है। घुँघट बडेरो रो...

read more
Please wait ...