Most Popular Hindi Articles (Poems, Stories, Fun)

Most Viewed Posts

  • सलमान खान की फिल्मों की कहानी – सौरभ कैथवास (15,510)
    मेरा नाम प्रेम है और मेरे भाई का नाम रतन मेरी माँ हमेशा कहती रहती है कि प्रेम रतन धन पायो मैंने प्रेम रतन धन पायों । एक दिन माँ ने कहा जाओ प्रेम और रतन सब्जी लेते आओ । हम दोनों भाई करण अर्जुन की तरह घर के बाहर निकले । थोड़ी दूर चलते<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • माँ – ब्रह्मानंद जालप (14,625)
    " माँ ने दिया सहारा बच्चपन में अपने प्यारे हाथो से पवन का ! हम सोये -सोये रहते , माँ काली रातें किया करती थी, गर्मी लगी हम रोने लगे, माँ ने थप थपा के इसारा किया सोने का ! माँ - - - - - - - - - - - - - -<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • बाबा की नजरें – पृथ्वीराज चौहान (13,222)
    बाबा खेत से जब घर आते हैं, बहुत चिंतित- बहुत थके थके से नजर आते हैं, उनकी नजरें कुछ तलाशती हैं, बेटे के लिये एक अच्छी नौकरी, एक बहू सुशील और समझदार, बेटी के लिये सुंदर घर-संसार, उनकी नजरें तलाशती है पीढ़ियों के लिये ऐशो-आराम, भले खुद भूखे रह लिए, पर अब बच्चों के लिये-<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • New Hindi Story: दूध की लालसा – कहानी (विजय सिंह मीणा) (3,600)
    New Hindi Story: दूध की लालसा - कहानी (विजय सिंह मीणा) बाण गंगा नदी पूरे उफान पर थी । उसके दोनों किनारों पर दूर दूर तक अथाह जल राशि दिखाई दे रही थी । सावन-भादों के महीने में हर साल यह अपने पूरे यौवन पर होती  है । आसपास के खेत ज्वार और बाजरा की<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • घूमना भी जरूरी होता है – दिशा शाह (3,501)
    ज़िन्दगी में कठोर परिश्रम होना जरूरी होता है .ठीक वैसे ही हमारा मगज , हमारा स्वास्थ्य जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए जरूरी होता है . हमारी रोजाना की जिंदगी कठोर परिश्रम से भरी होती है . इसका असर हमारे मगज पर हो जाता है . हम अपने तरीके से मगज को शांत करने में<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • माँ की व्यथा – अविनाश सिंह (3,314)
    (इसमें मैंने माँ और बेटे के विभिन उम्र का चित्रण किया है और के ऊपर होने वाले अत्याचार को दर्शाया है ) अपने उम्र को मैने बढ़ते देखा, माँ की उम्र को ढलते देखा। खुद को मैंने निखरते देखा, माँ के चहरे पे झुर्रियो को पड़ते देखा। जब हमने जन्म लिया तब माँ की उम्र<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • मुझे रोजगार चाहिए by राहुल रेड (2,767)
    खाली कन्धे हैं इन पर कुछ भार चाहिए बेरोजगार हूँ साहब मुझे रोजगार चाहिए जेब में पैसा नही डिग्री लिए फिरता हूँ दिनो दिन अपनी ही नजरो में गिरता हूँ कामयाबी के घर में खुले किवाड़ चाहिए बेरोजगार हूँ साहब मुझे रोजगार चाहिए। दिन रात एक करके मेहनत बहुत करता हूँ सूखी रोटी खाकर ही<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • है मेरी अभिलाषा Poem By Sachin A. Pandey (2,717)
    है मेरी अभिलाषा छू लूँ गगन बिना लिए पर, किसी का न हो मुझको डर; मंजिल छोडू न भी मरकर, है मेरी अभिलाषा। सामर्थ्य रहे मुझमें इतना, करूँ मैं सभी का उद्धार; बनूँ मैं दीन का जीवनाधार, कुछ न लगे मुझे अपार; है मेरी अभिलाषा। यदि कहीं हो भ्रष्टाचार, कर दूँ उसे मैं तार-तार; न<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • मेरे दिल – अनिल वर्मा (2,691)
    मेरे दिल में अब भी कोई सवाल नही। ये कोई माया का तो जाल नहीं। मैं इश्क मोहब्बत को क्या जानु। मुझको तो खुद मेरा ही ख्याल नहीं। रमजो गम में रहता हूं जाने क्यूं । और मुझको तो किसी से मलाल नहीं । कदमों को ठोकर लगती है,ना दिल को ठेस पहुंचती है। लगता<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>
  • एक दिन ऐसा आएगा… Poem By Pranay Kumar (2,677)
    एक दिन ऐसा आएगा... न कोई किसी के हँसी पर पावंदी लगाएगा न कोई किसी के ख़ुशी पर पावंदी लगाएगा जिंदगी होगी अपनी, सलीका होगा अपना, सोच होगी अपनी, रास्ता होगा अपना, एक दिन ऐसा आएगा... निकलेंगे सभी अपने काम पर, पहुंचेंगे किसी न किसी मुकाम पर, न लेंगे किसी का सहारा, न मानेंगे कभी<br/><a class="read-more" href="https://www.sahity.com/popular-hindi-articles-poems-n-stories/">Complete Reading</a>

Recent Posts

0

Create Account



Log In Your Account