नवीनतम प्यार-महोब्बत रचनाएँ

सुकून पाती हूं
कविता पेटशाली
जब, कभी जमाने से दिल नहीं मिलता,आईने से नज़र मिला लेती हूं,तब कहीं बहुत सुकून पाती हूं,बहुत सुकून पाती हूं,,।।कविता प
51877
Date:
05-07-2022
Time:
11:59
दूरियो मे रेहकर देखा है...
Karuna bharti
दूरियो मे रेहकर देखा है फास्लो मे फिसलकर देखा है तेरी ही मोहाब्बत की घटा छाईं रही बदलो से बेहकर देखा है ✍✍💞💞💞💞💞
51565
Date:
05-07-2022
Time:
08:36
शेर
फूल गुफरान
जिंदगी मै मौहब्बत का अगर इनाम दे कोई चाहतो को मेरी इश्क का पैगाम दे कोई।। वो लूट ले मेरी आँखों के ख्वाब रातो को जिं
143788
Date:
05-07-2022
Time:
12:13
कमली हुई तेरे प्यार की
Swami Ganganiya
नशा है तेरे प्यार का कही मैं खो ना जाऊ मुझे तुमसे महोब्बत है इतनी कही मैं पागल हो ना जाऊ.. हद हो गयी है अब कर कदर मेरे
50701
Date:
05-07-2022
Time:
12:50
उसको खूबसूरती से प्यार और में लड़का जरा सांवला
sonu
कैसे है आप लोग उम्मीद करता हूं आप लोग अच्छे होगे हैलो दोस्तो मेरा नाम सोनू महतो है ये कहानी एक आम लड़के की कहानी है
51560
Date:
05-07-2022
Time:
06:20
मेरा ज़िन्दगी से गहरा नाता है,,
कविता पेटशाली
महसूस करा दूं ,एँ , जिंदगी तुझे , मुकाम बहुत गहरा है,मेरा ,यूं ही नहीं कोई मौत के घाट से ज़िन्दा लौट आया है,।। कविता पेट
50925
Date:
05-07-2022
Time:
11:27
शीशे का बदन
Rupesh Singh Lostom
शीशे का बदन मुखड़ा चमन नशीले नयन होठ प्यासा मै खाना जुल्फ धना घनघोर घटा चमके जैसे बिजली सा मन गर्दन सुराही दार
50929
Date:
05-07-2022
Time:
10:14
अधूरी प्रेम कहानी भाग 1 AJAY-KUMAR-SURAJ
Ajay kumar suraj
मेरी और उसकी पहली मुलाकात एक आधार कार्ड की दुकान पर हुई थी, बहुत अधिक भीड़ में भी उसका स्वरूप मुझे आकर्षित कर रहा था।
97
Date:
05-07-2022
Time:
08:56
शेर
फूल गुफरान
जिंदगी मौत के बदले मै शिफा मागेगी । कौन देगा उसे मौत के बदले मै शिफा यहाँ।।
20236
Date:
05-07-2022
Time:
12:37
फूल खिल जाएगा
Ratan kirtaniya
लड़का :- पत्थर में फूल खिल जाएगा ओ हो ओ हो जब तेरा - मेरा ओ हो दिल मिल जाएगा तब पत्थर में फूल खिल
50166
Date:
05-07-2022
Time:
10:45
जो गुजरी राह से
कविता पेटशाली
शिला पर नाम लिखा किसी ने कविता,अधुरा छोड़ दिया जो गुजरी मैं उस राह से , फिर लौटकर आना होगा वापिस इस मुकाम पर कहकर,शीर्
50138
Date:
05-07-2022
Time:
11:20
बस जान देनी बाकी थी
Karuna bharti
दिल दिया था उसे, बस जान देनी बाकी थी रुसवा होके उसकी महफिल से, बस यादे ही रेह जानी थी
49734
Date:
05-07-2022
Time:
12:07