कबीर परमेश्वर जी के अनमोल वचन

कबीर परमेश्वर जी के अनमोल वचन

आध्यात्मिक तत्व ज्ञान

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति

सुरति मूल ठिकाना जानो ।।
कोई काया ब्रह्माण्ड में खोजे, कोई सुन्न ठहरावे।
पिंड ब्रह्मांड दोउ से न्यारा ,कहु कैसे लख पावे।।
बिना गुरु कहु कैसे पावे, फिर काया धर आवे।
सार शब्द की सनद न पावे, फिर भवसागर आवे।
गुरु जौहरी भेद बतावे, ओघट घाट लखावे।
सुरति मस्तानी शब्द समानी, गुरु गम लोक पठावे।
कोटि ज्ञान से भिन्न पसारा, सार शब्द जिन जानी।
सत्य से हंसा ऊबरे, लेउ हंस पहचानी।।
सत साहेब

जीतू दास
हिसार (हरियाणा)

कबीर परमेश्वर जी के अनमोल वचन
Rate this post

साहित्य लाइव रंगमंच 2018 :: राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता • पहला पुरस्कार: 5100 रुपए राशि • दूसरा पुरस्कार: 2100 रुपए राशि • तीसरा पुरस्कार: 1100 रुपए राशि & अगले सात प्रतिभागियों को 501/- रुपये प्रति व्यक्ति
Related Posts

Leave a Reply

Create Account



Log In Your Account