Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

कबीर परमेश्वर जी के अनमोल वचन

आध्यात्मिक तत्व ज्ञान

सुरति मूल ठिकाना जानो ।।
कोई काया ब्रह्माण्ड में खोजे, कोई सुन्न ठहरावे।
पिंड ब्रह्मांड दोउ से न्यारा ,कहु कैसे लख पावे।।
बिना गुरु कहु कैसे पावे, फिर काया धर आवे।
सार शब्द की सनद न पावे, फिर भवसागर आवे।
गुरु जौहरी भेद बतावे, ओघट घाट लखावे।
सुरति मस्तानी शब्द समानी, गुरु गम लोक पठावे।
कोटि ज्ञान से भिन्न पसारा, सार शब्द जिन जानी।
सत्य से हंसा ऊबरे, लेउ हंस पहचानी।।
सत साहेब

जीतू दास
हिसार (हरियाणा)

197 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Jitu Dass

Jitu Dass

मैं जीतू दास हिसार हरियाणा का निवासी हूं। मै प्रेणादायक कवि हूँ।

2 thoughts on “कबीर परमेश्वर जी के अनमोल वचन”

Leave a Reply

ग़ज़ल – ए – गुमनाम-डॉ.सचितानंद-चौधरी

ग़ज़ल-21 मेरी ग़ज़लों की साज़ हो , नाज़ हो तुम मेरी साँस हो तुम , मेरी आवाज़ हो तुम मेरे वक़्त के आइने में ज़रा

Read More »

बड़ो का आशीर्वाद बना रहे-मानस-शर्मा

मैंने अपने बड़े लोगो का सम्मान करते हुए, हमेशा आशीर्वाद के लिए अपना सिर झुकाया है। इस लिए मुझे लोगो की शक्ल तो धुँधली ही

Read More »

Join Us on WhatsApp