Home » साहित्य लाइव पत्रिका

Category: साहित्य लाइव पत्रिका

साहित्य लाइव पत्रिका
Parmanand Nishad

मोहब्बत

मोहब्बत एक पवित्र शब्द है, जिसने मुझे तुमसे मिलाया, मोहब्बत शब्द वो ताकत है, जिसने खींच लाया मेरे पास, मोहब्बत साथ मिलकर किये, दुनिया के

Read More »
Hindi
Parmanand Nishad

मोहब्बत- परमानंद निषाद

मोहब्बत एक पवित्र शब्द है, जिसने मुझे तुमसे मिलाया, मोहब्बत शब्द वो ताकत है, जिसने खींच लाया मेरे पास, मोहब्बत साथ मिलकर किये, दुनिया के

Read More »
साहित्य लाइव पत्रिका
Parmanand Nishad

क्रिकेट

———- क्रिकेट ———- भारत मे होती है क्रिकेट की पूजा, क्रिकेट का खेल अपने आप में ही है दूजा, हमारे जाबाज जब-जब खेलते आये है,

Read More »
साहित्य लाइव पत्रिका
Parmanand Nishad

भारत देश के वासी हूं

—– भारत देश के वासी हूं —– नाज है हमे अपने आप पर, जो भारत देश के वासी है। बसी यहां फूलों की वादी, सुंदर-सुंदर

Read More »

कविता –ठंढ मे ठिठुरती जीन्दगी

कविता –ठंढ मे ठिठुरती जीन्दगी कड़कड़ाती ठंढ मे ठिठुरती जिंदगी पनाह मांगती | ओढा दो कंबल मिले राहत जिंदगी परवाह मांगती | दिन भर कूड़ा

Read More »

सर पैदा होना चाहिए-श्याम कुंवर भारती

कट जाए शाने हिन्द भारती वो सर पैदा होना चाहिए | करे जो नेस्तनाबूद दुश्मन पर वो मादा होना चाहिए | नहीं आजादी युही कितनी

Read More »

साहित्य लाइव पत्रिका :: 01 नवम्बर 2018

[pdfviewer width=”100%” height=”849px” beta=”true/false”]https://www.sahity.com/wp-content/uploads/2018/11/Sahity-Live-Digital-Ptrika-01-Novermber-2018.pdf[/pdfviewer] साहित्य लाइव सम्पूर्ण भारत का साँझा मंच… पाक्षिक पत्रिका [कला, साहित्य, संस्कृति] मुफ्त में पढ़े बेहतरीन कहानी, कविता, व्यंग्य, शायरी, ग़ज़ल,

Read More »

साहित्य लाइव पत्रिका :: 16 अक्टूबर 2018

[pdfviewer width=”100%” height=”849px” beta=”true/false”]https://www.sahity.com/wp-content/uploads/2018/10/Sahity-Live-Digital-Ptrika-16-October-2018.pdf[/pdfviewer] साहित्य लाइव सम्पूर्ण भारत का साँझा मंच… पाक्षिक पत्रिका [कला, साहित्य, संस्कृति] मुफ्त में पढ़े बेहतरीन कहानी, कविता, व्यंग्य, शायरी, ग़ज़ल,

Read More »