Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

औरत की बेबसी, पुरुष की निगाह – नेहा श्रीवास्तव

सुना था औरत माँ,बहन,पत्नी,प्रेमिका,दोस्त होती है,
पुरुष की गलत निगाह मे कुछ और होती है !
हालात इतनी गंभीर फिर से हो गयी है,
समाज की हर औरत असुरक्षित हो गयी है !
जब-जब घर का चौखट लांघती है इस डर से निकलती है ,
पुरुषों की गंदी नजरे उसे हर वक्त ढूँढती हैं !
अपने माँ -बाप की प्यारी परिवार का सबल होती है ,
मर्दों की नजर मे वह बेबस होती है!
यह हालात हमारे यू.पी. मे भी आम हो गया है ,
माँ ,बहनो से छेड़-छाड़ सरेआम हो गया है!
जिस खाकी वर्दी वालों को हम समाज का रक्षक समझते है,
वही अपने फर्ज से अनजान हो गया है !
औरत ने दिया जिस कोख से पुरुषों को जन्म ,
वही उस कोख का व्यापार करते हैं !
रखते हैं अपने घर की औरत को घर के भीतर,
औरों के घर की बेटियों का चीर हरण करते हैं !
जिस औरत कि वजह से पुरुषों का अस्तित्व होता है ,
वही उसके तन की कीमत लगाता है ,
अफसोस की वह औरत को मन्दिर नही बाजार दिखाता है !
जब भी समाज की औरतों की हालात बयां करती हूँ ,
नाजाने कितने दर्द से मै खुद गुजरती हूँ !
जब-जब समाज मे पुरुषों की निगाह खराब होती है ,
हर रोज यहाँ एक” निर्भया” शिकार होती है !

Neha srivastavaनेहा श्रीवास्तव
उत्तर प्रदेश(बलिया)

2 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype
Neha Srivastava

Neha Srivastava

मैं नेहा श्रीवास्तव बलिया उत्तरप्रदेश की निवासी हूँ। मैं श्रृंगार रस की कवित्री हूँ। मैंने B.ED Science में शैक्षणिक योग्यता प्राप्त की है। मैंने साहित्य लाइव रंगमंच 2018 (राष्ट्रीय स्तर पर हिंदी प्रतियोगिता) में द्वितीय स्थान प्राप्त किया है।

71 thoughts on “औरत की बेबसी, पुरुष की निगाह – नेहा श्रीवास्तव”

  1. अभिषेक गुप्ता 'बिट्टू'

    क्या खूब लिखा है आपने… दिल छू लेने वाली पंक्तियां हैं… इस काम के लिए बहुत बहुत बधाई।

  2. Bharat Kumar Trivedi

    बहुत ही क़ाबिल ऐ तारीफ़ लिखा है।।
    ऐसा लगता है मानो औरत की बेबसी बयान करने के लिए क़लम का भरपूर इस्तेमाल किया है, बस पूरा ब्लाग पढ़ते ही मेरी तो अश्रुधारा ही बह निकली जो की रुकी नहीं रही है ।।

  3. बहुत बहुत बहुत ही सुन्दर पंक्ति लिखा है आपने।

Leave a Reply