Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Tag: Babita Khanduri

Hindi
manjitchetry

तेरा प्यारका नशा -मंजीत छेत्री

तेरा प्यारका नशा तेरे प्यार के नसे में तेरा नामका टेटू बनाया था अपने हाथ में जीने मरनेकी कस्मे खाए थे मिलके दोनोंने साथमे भूलके

Read More »

मेह्रूम-बबीता खंडूरी

उनसे हाथ छुड़ाकर महोब्बत की आस मे भटके मंजिल को रहों मे छोड़ मंजिल की तलाश मे निकले रातों मे दरबदर होकर सिलवटों पे अरमान

Read More »

अर्ध जीवन-बबीता खंडूरी

बताओ कौन करेगा प्यार उन्हें कौन करे परवाह उनकी भी सुख-दुख की बातों में उनको कौन करें शामिल भी कौन समझेगा उनके एहसास कौन उन्हें

Read More »

बचपन का वो जमाना – बबिता खंडूरी

बचपन का वो जमाना खो गया समझदारी में वो नासमझी का जमाना बरसातों का आना कश्तियों को बहाना वो बचपन की अटखेली वो नासमझी का

Read More »

तेरे सिंदूर की कीमत – बबीता खंडूरी

तेरे सिंदूर की कीमत कुछ यूं मैंने चुकाई है सारी दुनिया तो दुनिया अब मां भी हुई पराई है। नन्हे कदमों को याद कर मां

Read More »

एक रोज समझ में आएगा – बबीता खंडूरी

एक रोज समझ मे आएगा शेहरौं की बात छोड़िए जनाब प्यार तो सरहदें तक प्यार पार कर जाता है अपने और बेगानों से तो क्या

Read More »

धुवाँ धुवाँ सी तू इन फिजाओं में – बबिता खंडूरी

धुवाँ धुवाँ सी दिखती हे मुझे धुवाँ धुवाँ सी लगती हे मुझे धुवाँ धुवाँ समाती हे मुझमें ये बता क्या कशिश हे तेरी ये महोब्बत

Read More »