अटल जी की कहानी-दीशा शाह

अटल जी की कहानी-दीशा शाह

आज हमने साहित्यकार , कवी , पूर्व प्रधान मंत्री श्री अटल बिहारी बाज  पायी जी को हमेसा के लिए खो दिया  है . पुरे साहित्य जगत में मायुशि का माहौल छा गया है . अटल बिहारी बाजपेयी अटल थे . कभी हार नहीं मानते थे . वो स्वाभाविक , बोहोत अच्छे थे , सब के
Complete Reading

क्या भारत सच में आज़ाद है-दीशा शाह

इस 1947 में भारत अंग्रेजो की गुलामी से आज़ाद हुआ था .ये 15 अगस्त 71 साल पुरे होने जा रहे है .देश आजाद हो गया लेकिन देशवासी अभी भी बेड़ियों के बन्धन में बन्धे हैं। ये बेड़ियां हैं अज्ञानता की जातिवाद की धर्म की गरीबी की सहनशीलता की अवधारणाओं की आदि। क्या भारत सच में
Complete Reading

देश के रक्षक-दीशा शाह

देश के रक्षक कोन है ये तोह सब को पता है , फौजी है .एक फौजी अपनी जान दाव में लगा कर सब की जान बचाता है . आज हम सुरक्षित है , सिर्फ और सिर्फ भारतीय सेना के वजह से . आज हम को जहा जाना होता है सब जगह जाते है हम बिना
Complete Reading

क्या गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा मिलना चाहिए-दिशा शाह

हमारे भारत में हिन्दू धर्म में गाय को गो माता के रूप में जाना जाता है . लोग गाय की पूजा करते है . गाय को माता मानते है . गाय का दूध पूजा अभिषेक और अन्य पवित्र कार्यो में प्रयोग किया जाता है. यह पोस्टिक दूध से हमारा ख्याल रखती है .हम हमेसा तंदुरस्त
Complete Reading

प्लास्टिक बंध करने का सच-दिशा शाह

प्लास्टिक को आज भी बाजार में इस्तेमाल किया जाता है . कुरकुरे , लैस , जैसी कहि कंपनी. प्लास्टिक का इस्तेमाल करती है . कुछ कुछ खाने की चीज में भी प्लास्टिक का इस्तेमाल करते है , कुरकुरे , कोबी , प्लास्टिक से इस्तेमाल करते है . प्लास्टिक से पर्यावरण में बोहोत नुकसान होता है
Complete Reading

धीरज-दीशा शाह

ज़िन्दगी में आगे बढ़ने के लिए सबसे ज्यादा आवश्यक होता है , वो है धीरज का . धीरज हर कोई में १००% होना आवश्यक होता है . धीरज वो है जो उच्च सिखर पर जाने का रास्ता दिखाता है . हड़बड़ी में कोई भी काम नहीं होता है , जब आप कोई भी काम करते
Complete Reading

ख़ुशी-दीशा शाह

ज़िन्दगी में हम सब ख़ुशी के लिए क्या कुछ नहीं करते. सब कुछ करते है. फिर भी वो ख़ुशी नहीं मिलती हमें क्यों . क्यों की मन में वहम बस जाता है की ये मिल जाएगा. , ये हो जाएगा तोह खुश होंगे . ग्रेजुएशन कम्पलीट होगा तोह खुश होंगे , जॉब मिल जाएगी तोह
Complete Reading

हम जब ज़िन्दगी में आगे बढ़ते है-दीशा शाह

हम जब ज़िन्दगी में आगे बढ़ते है तब हम गिरते है .तब हमारे अंदर दर बेथ जाए तोह हम आगे नहीं बद पाते है . हमारा आत्मविश्वास का विकास भी नहीं होता है . हम ज़िन्दगी से भागने लगते है . ज़िन्दगी को समज नहीं पाते है . ज़िन्दगी में दर से बहार निकलने का
Complete Reading

आज के समय में शिक्षित बेरोजगारी-दीशा शाह

आज के समय में युवाओ को शिक्षित  होने के बावजूद भी  कोई नौकरी नहीं मिलती है . हमारे भारत में  में करोडो से भी ज्यादा बेरोजगार युवा  है . पढ़े लिखे होने के कारन भी अच्छी नौकरी नहीं मिलती है , ज़िन्दगी में आगे नहि बढ़ पाते है . क्यों की ज़िन्दगी में आगे बढ़ने
Complete Reading

अनमोल रिस्ता वो है दोस्ती-दीशा शाह

दोस्त ऐसे होने चाहिए की हर मुश्किल परिस्थिति में आप के साथ हो , .ना की ऐसे की मुश्किल परिस्थिति में आप को छोर कर चले जाए . सच्चा दोस्त वो कहलाता है वो सुख में तोह साथ देता है . साथ में दुःख में भी साथ देता है. हम कभी परिवार वालो को नहीं
Complete Reading

Create Account



Log In Your Account