Notification

Munamun Singha

पुलिया पे दुनिया-मुनमुन सिंघा

अब आ गयी हैं पुलिया पे दुनिया शाम जब होती है पुलिया पे बैठते है पुरे शराबी । सुबह जब होती हैं पुलिया पे बैठते हैं पुरे अवारे । दोपहर जब होती है जानवर भी हो जाते हैं पुलिया के सहारे । अब आ गयी हैं पुलिया पे दुनिया शराबी नहीं देते हैं अपनों पर …

पुलिया पे दुनिया-मुनमुन सिंघा Read More »

इश्क की आशिकी-मुनमुन सिंह

एक बार कीं बात है ।एक गाँव में एक परिवार में चार सदस्य थे ।माता -पिता और भाई -बहन थे ।लड़के का नाम राजविर था ।वह बहुत गरीब था ।लेकिन राजविर बहुत अवारा था ।वह पढ़ाई भी अच्छे से नहीं करता था ।वह अपने बगल के विद्यालय में अपने गाँव के एक लड़की के साथ …

इश्क की आशिकी-मुनमुन सिंह Read More »

ये कैसा था इश्क-मुनमुन सिंघा

एक था दिवाना लड़का । एक थी दिवानी लड़की । ये कैसा था इश्क ।। लड़की थीं दिवानीगी में । लड़का था आवारगी में । मिल गये थे दोनों आशिकी में । ये कैसा था इश्क ।। जब लड़की की खत्म हुयी दिवानीगी । और लड़के की खत्म हुयी आवारगी । दोनों ने खत्म किए …

ये कैसा था इश्क-मुनमुन सिंघा Read More »

पुलिया पर दुनिया- मुनमुन सिंह

अब आ गयी हैं पुलिया पर दुनिया ।। सुबह बैठते हैं पुलिया पर शराबी । दोपहर छिपते हैं जानवर का समूह । शाम बैठते हैं आवारो का समूह । अब आ गयी हैं पुलिया पर दुनिया ।। शराबी पैसे उडाते शराबी पीने के लिये । जानवरों का समूह छिपता हैं धुप से बचने के लिये …

पुलिया पर दुनिया- मुनमुन सिंह Read More »

मित्र हैं कौन-मुनमुन सिंघा

एक गाँव में की बात हैं ।एक किसान के पास दो बेटी और कोई लड़का नहीं था ।किसान बड़ी मेहनत से मजदूरी करता था ।दोनों बेटियाँ हमेशा एक साथ पढ़ने जातीं थीं ।सभी काम दोनों साथ -साथ करतीं थीं ।बड़ी बेटी का नाम रोहीनी और छोटी लड़की का नाम रजनी था ।रोहीनी की कोई दोस्त …

मित्र हैं कौन-मुनमुन सिंघा Read More »

इस प्यार को क्या नाम दूँ-मुनमुन सिंघा

एक गाँव कीं दर्द भरी कहानी हैं ।एक लड़का विद्यालय जा रहा था ।जब वह बारह साल का था ।अचानक धूप के कारण वह पेड़ के नीचे वह सुस्ताने लगा था ।उनके पास कई आदमियो का झुंड आया ।और उसे पकड़कर उठा ले गये।उसे ले जाकर एक होटल में बंद कर दिए ।वह होटल मांसाहारी …

इस प्यार को क्या नाम दूँ-मुनमुन सिंघा Read More »

बचा लो इस पर्यावरण को-मुनमुन सिंघा

अब तो बचा लो इस पर्यावरण को कर रहे हो कितना इसे नाश । इसी तरह रहा तो एक दिन हो जायेगा सर्वनाश । एक घर में न खरीदो चार धुँओ की गाड़ीयाँ । इसी तरह रहा तो एक दिन बादल भी धुँओ में जायेगा बदल । अब तो बचा लो इस पर्यावरण को न …

बचा लो इस पर्यावरण को-मुनमुन सिंघा Read More »

अब होगा जाओ जागरूप-मुनामुन सिंह -चक्ररामपुर

पिछड़ी वाले अब हो जाओ जागरूप अब करो और जमकर पढ़ाई । खुन पसीने को मिला दो एक में । बैल की तरह बनकर करो खुब मेहनत । पिछड़ी वाले अब हो जाओजागरूप सरकार भी अब बना रहीहै मुर्ख तुझे । अब खत्म कर रहीहै 27%छुट । देती हैं भरोसा खत्म नहीं करेंगे छुट । …

अब होगा जाओ जागरूप-मुनामुन सिंह -चक्ररामपुर Read More »

आज -कल की शादी – मुनमुन सिंह

आज -कल की शादी का हैं जमाना बदल गया छोरीया हैं बिकने लगीं सोने के भाव में । कब तक ये बिकेंगीं । खरीदने वाले दानव अब तो हो जाओ सावधान । क्या तुम लोगों के नहीं हैं पैसा । आज -कल की शादी का है जमाना बदल गया कब तक सहेंगीं ये भाव बेटियाँ। …

आज -कल की शादी – मुनमुन सिंह Read More »

पकड़ लो डोर – मुनमुन सिंह

अब देश में बढ़ता जा रहा हैं आतंक डोर छुटती जा रहीहै । पकड़ लो इस डोर को । पकड़ी नहीं ये डोर । खत्म हो जायेगा ये देश । अब देश में बढ़ता जा रहा हैं आतंक बच्चे भी बन रहें हैं आतंकवादी । युवाओं की बात छोड़ दो । भविष्य में लोग भी …

पकड़ लो डोर – मुनमुन सिंह Read More »

हैं बनी – मुनमुन सिंह

मेरी जिन्दगी न जाने किस सीसे टूकड़े से हैं बनी । रहती हूँ मै हमेशा बीमार बचपन से सोचती I. A.Sबनते हैं कौन । कविता लिखी जाती हैं कैसे । मैं अपना लक्ष्य भी बना ली इसी को। मेरी जिन्दगी न जाने किस सीसे टूकड़े से हैं बनी । आज मैं आर्ट ले ली अपने …

हैं बनी – मुनमुन सिंह Read More »

प्यार न करना – मुनमुन सिन्हा

प्यार न करना यार प्यार में हो जाओगे तुम बर्बाद । ज्ञान भी नहीं प्राप्त कर पाओगे । लक्ष्य तक भी नहीं पहुँच पाओगे । प्यार न करना यार स्नेहा नेप्यार किया सत्या से । जब सत्या ने किया इंकार । स्नेहा हो गयी बेकार । प्यार न करना यार जब आये परीक्षा में कम …

प्यार न करना – मुनमुन सिन्हा Read More »

Join Us on WhatsApp