Home » Sachin Om Gupta

Tag: Sachin Om Gupta

बारिश की बूँदे -सचिन ओम गुप्ता

बुलबुले बनाती बारिश की बूँदे मेरे आँगन में आसमान से गिरते हुए टप, टप, टप कर शोर करती, दूसरी बूँद के साथ इतरा रही थी।

Read More »

प्रेम बनी एक कविता-सचिन ओम गुप्ता

तुम्हारा यूँ इश्क़ की गली में चले आना, नज़रों का नज़रों से यूँ टकरा जाना, तुम्हारा यूँ रूठना; हमारा मनाना, गुलाब की पंखुड़ियों जैसे होठों

Read More »

फिर तलाक क्यों? – सचिन ओम गुप्ता

“रवि ऑफिस से घर आते ही पत्नी पूजा से बोला-मुझे तलाक चाहिए.. पूजा तलाक शब्द सुनते ही रो पडी 8 साल का रिश्ता दोनों का

Read More »

“हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें” – सचिन ओम गुप्ता

हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें, जो पहली नजर में आँखों में बसी न हो.. हम उस इश्क़ को इश्क़ क्या कहें, जो देखकर

Read More »

“वो पहली मुलाकात की बात” – सचिन ओम गुप्ता

चलो एक-दूजे को भूलने की शुरुआत करतें हैं, हम अपनी पहली मुलाक़ात की बात करते हैं वो जो तुम पहली बार किताबें लिए टकरायी थी

Read More »

मेरे एहसासो के अल्फाज – सचिन ओम गुप्ता

जीवन की कहानी को नए पन्नों में लिखेंगे आज, बीते हुए कल को भूलकर कुछ नया एहसास करेंगे आज करेंगे वादा कुछ कर गुजरने का

Read More »

“सुहागरात” (मधुमायिनी) – सचिन ओम गुप्ता

उस पहली रात की बात न पूछो उस सुहागरात की बात न पूछो, मधुमायिनी की उलझन में थी मैं थोड़ी शरमायी सी थी मैं थोड़ी घबरायी

Read More »