Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

Tag: Than Singh Meena

तस्वीर – थानसिंह”तराना”

आज कहानी कुछ ऐसी है मेरे भारत देश की, नेताओं ने तस्वीर बदलदी मेरे भारत देश की। मौसम नही सुहाना कोई चारों तरफ खिजायें हैं,

Read More »

हिंदी की हिंदी – थान सिंह तराना

सारे देश ने माना जिसको अब उसका सम्मान नहीं, लागू किया था एक दिन जिसको अब वो कहीं फरमान नहीं। दीवारों पर लिखा मिलेगा क्यों

Read More »

पंच तत्व – थान सिंह तराना

आये हैं हम इस जग में कुछ तो नाम कमायेंगे, मुठ्ठी बाँधे आये थे और हाथ पसारे जायेंगे। कोई कहे दीवानापन तो कोई कहे आवारापन,

Read More »

अधूरी जिंदगी – थान सिंह तराना

अधूरी जिंदगी यारो अधूरा फलसफ़ा निकला, जिसकी नई कहानी थी पुराना वो मकां निकला। तमाम उम्र में कोई तो मेरा हो नहीं पाया, जिसे अपना

Read More »

भटकती हुई आत्मा – थान सिंह तराना

एक भटकती हुई आत्मा सा हूँ मैं, रात-दिन कुछ न कुछ गुनगुनाता हूँ मैं। एक नदी के बहाव में बहता रहा, जैसे पानी का कोई

Read More »

तेरे ख़्वाब – थान सिंह तराना

तेरे ख्वाबों को पलकों में सजाना मुझको आता है, दिल मे चाहत है कितनी बताना मुझको आता है। सुना है दिल दरिया है चश्मा पलकें

Read More »

मैं ही हूँ – थान सिंह तराना

बुरा नही कोई जग मे,यहाँ बुरा बस मैं ही हूँ, दुनिया के अवगुणों की गठरी सर पै उठाये मैं ही हूँ। नदियाँ, सूखी झरने सूखे

Read More »

दिल की बातें – थान सिंह तराना

दिल की बातें खत में लिख दी बाकी रही जुबानी, मेरे लिए तू तेरे लिए मैं यही है प्रेम कहानी। ओ मेरे साथिया मैंने दिल

Read More »

स्वाभिमान – थान सिंह तराना

दुनिया की मुझको फिक्र नही, ये हँसती है तो हँसने दो। मेरा मकसद है कर्म यहाँ, जो कहती है वो कहने दो। जब स्वाभिमान से

Read More »