Sahity Live Reviews & Testimonails

Nishant Kumar

Nishant Kumar Nayan

Hey #guys it’s great experience with #dishalive i’m new on it , but kindly consider me as a friend and it’s a great platform to show our own passion with our colleague so u all #dishalive guys are amazing and keep it up.

Nishant Kumar
Sahity Live

विकास विद्यार्थी

जब कोई सामाजिक मस्तिष्क,अपने पोषण के लिए,भाव सामाग्री निकालकर समाज को सौंपती है तो उस संचित निधि कोष को ही साहित्य कहा जाता है । साहित्य की कई शाखाएँ हैं जैसे:- कविता,नाटक,कहानी, हाइकू,और जीवन । मुझे जीवन की इस विधा में जुड़े रहना, जैसे खुद से जुड़ा हूँ, जमीन से जुड़ा हूँ ऐसा ही लगता… Read more “विकास विद्यार्थी”

विकास विद्यार्थी
भोपाल मध्य, प्रदेश

नेहा श्रीवास्तव

Neha srivastava

मेरे शब्दों को भी रहने का मकान मिल गया। नाम था गुमनाम पहचान मिल गया। कवियों और लेखकों का परिवार मिल गया। अपने भावनाओं को कोरे कागज पर शब्दों का रुप देती थी। कुछ इस तरह साहित्य लाइव का साथ मिल गया।।

नेहा श्रीवास्तव

हिन्दी साहित्य की जड़ें

Navin Kumar

हिन्दी साहित्य की जड़ें मध्ययुगीन भारत की ब्रजभाषा, अवधी, मैथिली और मारवाड़ी जैसी भाषाओं के साहित्य में पाई जाती हैं। हिंदी में गद्य का विकास बहुत बाद में हुआ और इसने अपनी शुरुआत कविता के माध्यम से जो कि ज्यादातर लोकभाषा के साथ प्रयोग कर विकसित की गई। हिंदी में तीन प्रकार का साहित्य मिलता… Read more “हिन्दी साहित्य की जड़ें”

Navin Kumar
Screen Writer

Sahity live एक परिवार

Sahity live के साथ जुड़ने पर मुझे लगा कि मैं किसी साहित्य परिवार का एक हिस्स हूँ, जहाँ अनजाने भी अपनों की तरह लगते हैं । अब मन में किसी कृतियों के आगमन पर मैं Sahity live का साथ पाता हूँ, जहाँ मेरे कृति/विचार को प्यार और सम्मन मिलता है। सचमुच Sahity live का साथ… Read more “Sahity live एक परिवार”

प्रणय कुमार
कुर्सेला, कटिहार ( बिहार )
0

Create Account



Log In Your Account