Notification

अगर सीखना चाहो तो जिंदगी हर पल कुछ नया सिखाती है-जल्पा-सोलंकी

 केहेते की अगर सीखना चाहो तो जिंदगी हर पल कुछ नया सिखाती है 

बस जरूरत है एक सही नजरिए कि ।
हमारी जिंदगी में हमारे आसपास ना जाने कितनी ऐसी चीजें होती है जो हमें जिंदगी में कितना कुछ सिखा जाती है हमें जिंदगी का मतलब समझाती है हमारी जिंदगी को बेहतर बनाती है
फर्क सिर्फ नजरिए का ही होता है अब इस बात को हम इस बात से समझ ते है कि एक कंपनी के मालिक ने अपने सभी कर्मचारियों को एक ही काम करने को दिया ओर सब को वो काम अपने अपने हिसाब से करना था ।
कुछ कर्मचारियों के लिए वो काम बस एक काम था कुछ कर्मचारियों के लिए वो काम एक चुनौती तो कुछ कर्मचारियों ने उसे एक अवसर के रूप में लिया !
इस तरह एक ही काम सबके लिए अलग अलग हो गया ओर जब उस का परिणाम आया तो नतीजे बहुत ही अलग थे जिन कर्मचरियों ने उसे सिर्फ काम समझा था उन के लिए वो काम सिर्फ काम था । जिन कर्मचरियों ने उसे एक चुनौती समझा था उनके लिए वो काम किसी भी हाल में पूरा करना जरूरी था l ओर जिन कर्मचारियों ने उस काम को एक अवसर समझा था उन्होंने इस काम को काम या चुनौती नहीं समझे कि बजाए उसे सिर्फ एक अवसर समझा ओर कुछ नया सिख ने अवसर समझा इस लिए वो लोग इस काम से बहोत कुछ नया सिख पाए
कहने का मतलब सिर्फ इतना है कि चीजें एक ही होती है हमारे सामने मगर अमर अलग नजरिया ही उस चीज को अलग बनाता है ।
ओर जाते जाते बस एक ही बात बोलना चाहूंगी

 अगर नजर बदलो तो नजारे बदल जाते है 
 कस्ती तो वहीं होती है मगर अगर रास्ते बदलो 
 तो  किनारे बदल जाते है ;

Leave a Comment

Connect with



Join Us on WhatsApp