Notification

अपने लेख प्रकाशित करने के लिए यहाँ क्लिक करें!

अगर सीखना चाहो तो जिंदगी हर पल कुछ नया सिखाती है-जल्पा-सोलंकी

 केहेते की अगर सीखना चाहो तो जिंदगी हर पल कुछ नया सिखाती है 

बस जरूरत है एक सही नजरिए कि ।
हमारी जिंदगी में हमारे आसपास ना जाने कितनी ऐसी चीजें होती है जो हमें जिंदगी में कितना कुछ सिखा जाती है हमें जिंदगी का मतलब समझाती है हमारी जिंदगी को बेहतर बनाती है
फर्क सिर्फ नजरिए का ही होता है अब इस बात को हम इस बात से समझ ते है कि एक कंपनी के मालिक ने अपने सभी कर्मचारियों को एक ही काम करने को दिया ओर सब को वो काम अपने अपने हिसाब से करना था ।
कुछ कर्मचारियों के लिए वो काम बस एक काम था कुछ कर्मचारियों के लिए वो काम एक चुनौती तो कुछ कर्मचारियों ने उसे एक अवसर के रूप में लिया !
इस तरह एक ही काम सबके लिए अलग अलग हो गया ओर जब उस का परिणाम आया तो नतीजे बहुत ही अलग थे जिन कर्मचरियों ने उसे सिर्फ काम समझा था उन के लिए वो काम सिर्फ काम था । जिन कर्मचरियों ने उसे एक चुनौती समझा था उनके लिए वो काम किसी भी हाल में पूरा करना जरूरी था l ओर जिन कर्मचारियों ने उस काम को एक अवसर समझा था उन्होंने इस काम को काम या चुनौती नहीं समझे कि बजाए उसे सिर्फ एक अवसर समझा ओर कुछ नया सिख ने अवसर समझा इस लिए वो लोग इस काम से बहोत कुछ नया सिख पाए
कहने का मतलब सिर्फ इतना है कि चीजें एक ही होती है हमारे सामने मगर अमर अलग नजरिया ही उस चीज को अलग बनाता है ।
ओर जाते जाते बस एक ही बात बोलना चाहूंगी

 अगर नजर बदलो तो नजारे बदल जाते है 
 कस्ती तो वहीं होती है मगर अगर रास्ते बदलो 
 तो  किनारे बदल जाते है ;
70 views

Share on

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on linkedin
LinkedIn
Share on email
Email
Share on print
Print
Share on skype
Skype

Leave a Reply

प्यार….1-चौहान-संगीता-देयप्रकाश

आज के वक़्त में बहुत प्रचलित शब्दों में से एक है” प्यार”. क्या इसका सही अर्थ पता है हमें? इसका जवाब देना ज़रा मुश्किल है.शायद

Read More »

Join Us on WhatsApp